बेसिक विभाग के शिक्षकों ने मुख्यमंत्री राहत कोष में एक दिन का वेतन देने का लिया निर्णय

रमेश यादव (संवाददाता)

दुद्धी ।कोरोना से जंग में दुद्धी शिक्षक एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देंगे। इसके लिए शिक्षकों के संगठनों ने आम सहमति की सूचना देने के लिए कदम आगे बढ़ाया है। सभी शिक्षकों के सहमत होने का पत्र पबीएसए को दे दिया गया है।
जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा.गोरखनाथ पटेल ने बताया कि इसकी सूचना वित्त एवं लेखाधिकारी को भेजी जा रही है। उन्होंने शिक्षकों का आभार जताया है कि ऐसे मौके पर शिक्षकों ने सराहनीय कार्य किया है।शिक्षकों ने सभी शिक्षक साथियों से कहा कि अपने अपने वेतन को मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कर दें, जिससे सरकार को कोरोना से बचाव के लिए कार्य करने में कोई दिक्कत न आने पाए । कहा कि ऐसे मौके पर हर किसी को अपने वेतन से मदद देनी चाहिए, हर विभाग के कर्मचारी वेतन से मदद दे रहे हैं। यह आम लोगों के लिए किए जा रहे काम में सहायता मिल सके और यह हमारे लिए पुण्य का कार्य है।
इसके अलावा प्राथमिक स्कूलों के शिक्षकों के वेतन से कटौती किए जाने के लिए बीएसए को सहमति पत्र दिया। शिक्षकों का कहना है कि उनके वेतन से एक दिन की कटौती करके राहत कोष में लिया जाए और जनहित के कार्य करें।
राहत कोष में मदद देने के लिए आगे आए शिक्षकों ने कहा कि ऐसे मौके पर जिन गरीबों के पास खाने का इंतजाम नही है, उन्हें खाने की व्यवस्था हो। प्रभावितों को प्रभावी ढंग से इलाज कर रहे चिकित्सकों और कर्मियों को जीवन रक्षक सामग्री की व्यवस्था दी जाए। जिससे वह सुरक्षित रहें हैं और लोगों की सेहत बनाए रखें।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!