मजदूरों की पैदल यात्रा जारी, रायपुर-छत्तीसगढ़ से डेढ़ दर्जन मजदूर विंढमगंज के लिए निकले

आर0के0 (संवाददाता)

सागोबांध । बभनी थाना क्षेत्र के बैंना में आज सुबह 18 मजदूरों का जत्था रास्ते पर जाते दिखाई दिया तो गांव में हड़कम्प मच गया। ग्रामीणों ने उन सभी मजदूरों को रोककर पूछा तो मजदूरों ने बताया कि हम सब छत्तीसगढ़ राज्य के रायपुर में ब्रिज निर्माण में मजदूर का काम करते हैं। वहां पर लॉक डाउन के बाद निर्माण कार्य बंद हो गया है। मजदूरों ने बताया कि वे लोग कुछ दिन बैठे रहें कि शायद कोई व्यवस्था हो जाएगा मगर उनके सामने खाने का संकट खड़ा होने लगा और वे खाने के लिए मोहताज होने लगे, क्योंकि उन लोगों के पास पैसा की कमी होने लगी थी। उनमें से एक मजदूर बाबूलाल पुत्र राघवेंद्र निवासी बुढ़वा ने बताया कि हम लोग धरती डोलवा, विंढमगंज, बुढ़वा बेतवा, कचनारवा आदि गांव के हैं, जैसे-तैसे हम लोग कई साधन से छत्तीसगढ़ के बॉर्डर धनवार पहुंचे। वहां से हम सभी 18 लोग आसनडीह रंदाह, मचबंधवा, धनवार, तेंदुआल, बैंना होते हुए सुंदरी जाएंगे। वहां पर हमारे कुछ रिश्तेदार हैं। वहां से किसी तरह अपने घर विंढमगंज क्षेत्र में पहुंचेंगे।

उन लोगों से बेना में अलग -अलग रोककर पूछताछ किया गया कि आप लोग खाना खाए हैं कि नहीं, अगर नहीं खाए होंगे तो सागोबांध विद्यालय में भोजन का प्रबंध कम्युनिटी कीचेन के तहत हो रहा है । आप लोग को भोजन मिलेगा। मजदूरों ने बताया कि हम लोग रात्रि में खाए हैं और जरूरत पड़ी तो खा लेंगे।

मजदूरों ने बताया कि हम लोगों का सारा जिला सूरजपुर में जांच हुआ है । जिसमें हम लोग का कुछ नहीं निकला।
ग्राम प्रधान ने बताया कि क्वॉरंटाइन रूम की व्यवस्था की गई है ।जो भी बाहर से लोग आ रहे है उन्हें इसी रूम में रखा जा रहा है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!