तब्लीगी जमात के प्रमुख द्वारा लोगों को बरगलाने की कोशिश कभी न माफ करने वाला अपराध है- राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि तब्लीगी जमात के कार्यक्रम के कारण देश की कोरोना वायरस के खिलाफ जंग को झटका लगा है ।उन्होंने कहा कि तब्लीगी जमात के प्रमुख मौलाना साद ने लोगों को बरगलाने की कोशिश की है और कभी न माफ करने वाला अपराध किया है।

आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि मौलाना साद जैसे लोग इस्लाम की भलाई नहीं बल्कि इसके खिलाफ काम कर रहे हैं । ये लोगों को भड़काते हैं और कुरान में लिखी बातों को गलत तरीके से मुसलमानों को समझाते हैं ।उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को सजा देने से भी कुछ नहीं हो पाएगा क्योंकि ये अपनी सोच को ऐसा बना चुके हैं जो नफरत से भरी है ।

आरिफ मोहम्मद खान ने ये भी कहा कि मौलाना साद ने इस गंभीर महामारी के समय गलतबयानी करके मानवता के खिलाफ अपराध किया है । उन्होंने कहा कि मौत किसी कौम को देखकर नहीं आती और कुछ लोग इस समय स्थिति की गंभीरता समझ नहीं रहे हैं जिसका खामियाजा बड़े पैमाने पर भुगतना पड़ सकता है ।

आरिफ मोहम्मद ने कहा कि मौलाना साद जैसे लोग कुरान में लिखी बातों का गलत मतलब लोगों को समझाया और कई लोग सिर्फ इसलिए इनकी बातों में आते हैं क्योंकि ये बड़े पदों पर बैठे हैं । मैंने मौलाना साद के पहले के कई बयानों को भी देखा है उसमें साफ तौर पर वो भड़काऊ बातें कर रहे हैं ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!