मजदूरों का पैदल आने का सिलसिला जारी, खेतों से होकर पार कर रहे है बार्डर

पी के विश्वकर्मा ( संवाददाता )

कोन। – भले ही पूरे देश मे लाक डाउन है परन्तु आज भी बाहर कमाने गये मजदूर किसी प्रकार से अपने घर पैदल चलकर भी जाने को मजबूर है।
जानकारी के अनुसार कोन थाना क्षेत्र के बोदार, डोमा, झारखंड बार्डर पर इनदिनों प्रतिदिन दर्जनों की संख्या मे मजबूर पैदल ही पीठ्ठू बैग लिए रास्ते मे जाते दिख रहे है, प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो बार्डर पर फोर्स तैनात है परंतु जाने वाले मजदूर खेतों के रास्ते आराम से झारखंड प्रवेश कर लेते है।
मंगलवार को दर्जनों की संख्या मे पैदल जा रहे मजदूर सुदामा चौधरी, देवकुमार, संतोष कुमार, विरबल सिकंदर ,अक्षय कुमार असर्फी लाल, महेंद्र सिंह खरवार, नागेंद्र सिंह समेत दर्जनों ने बताया कि हमलोग मिर्जापुर से ही पैदल आ रहे है तीसरे दिन कोन पहुंचे सभी ने बताया कि बिस्किट व रास्ते मे हैण्डपम्प से पानी पीते हुये आ रहे है जहां चौराहा या पुलिस होने का अंदेशा रहता है वहां झंझट से बचने के लिए खेतों से होते आ रहा है जिसमे से कुछ ने केतार झारखंड तो कुछ लोगों ने नैकाहा जाने की बात कहां।बतादें की भले ही पूरी तरह लाक डाउन है परन्तु सडकों पर बाहर मे फसे मजदुर किसी प्रकार पैदल अपने अपने घर जाते दिखाई दे रहे है।वही मंगलवार को सुबह लगभग 7 बजे मजदूरों से भरी एक बस भी कोन क्षेत्र के बोदार बार्डर पर मजदूरों को छोड वापस जाते देखी गयी।
इस प्रकार से प्रतिदिन वाहर से आ रहे मजदूरों को देकर क्षेत्रवासियों मे दहशत देखी जा रही है ग्रामीणों का मामना है की सभी का पूणतः जांच होने के बाद ही गांव मे रहने की अनुमति होनी चाहिये।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!