प्रतीक्षा ने एमबीबीएस बनकर क्षेत्र का नाम किया रोशन

अबुलकैश डब्बल ब्यूरो
* राष्ट्रपति पुरष्कृत शिक्षक जेपी रावत की है पुत्री
* परिजनों में हर्ष

चंदौली । धानापुर राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित शिक्षक जयप्रकाश रावत की पुत्री प्रतीक्षा रावत ने एम.बी.बी.एस परीक्षा उत्तीर्ण कर परिजनों सहित क्षेत्र का नाम रोशन किया है। एमबीबीएस का परिणाम परिणाम मंगलवार को घोषित हुआ। जिसमें क्षेत्र की पहली बेटी के डाक्टर बनने की खबर सुनते ही घर परिवार सहित क्षेत्र में खुशी की लहर दौड़ पड़ी।
बताया जाता है कि राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित शिक्षक स्थानीय कस्बा निवासी जे.पी.रावत की तीसरी पुत्री प्रतिक्षा रावत प्रदेश के कानपुर में स्थित गणेश शंकर विद्यार्थी मेमोरियल मेडिकल कालेज से एम.बी.बी.एस की परीक्षा उत्तीर्ण कर धानापुर क्षेत्र की पहली डाक्टर बनी। डा. प्रतिक्षा रावत ने प्राथमिक शिक्षा कस्बा स्थित स्कॉलर्स पब्लिक स्कूल से ग्रहण करने के बाद अपने चाचा डॉ.कुमार अम्बरीष चंचल एसोसिएट प्रोफेसर बीएचयू के संरक्षण में सेंट्रल हिन्दू गर्ल्स स्कूल वाराणसी से सन 2013 में इण्टर मिडिएट की शिक्षा पूरी की। एक वर्ष की तैयारी से 2014 में आल इण्डिया पीएमटी के माध्यम से तन्जौर मेडिकल कालेज तमिलनाडू में एम.बी.बी.एस हेतु चयन हुआ।किन्ही कारणों से वहां नहीं जा सकीं।पुन: 2015 में यूपी सीपीएमटी की परीक्षा उत्तीर्ण कर गणेश शंकर विद्यार्थी मेमोरियल मेडिकल कालेज कानपुर में प्रवेश लेकर आज डाक्टर बनी। डा.रावत ने बताया कि मुझे खुशी है कि आज मै देश की सेवा करने के लायक बन गयी। इस समय देश कोरोना जैसी महामारी के संकट से जूझ रहा है।ऐसे में एक चिकित्सक के जो दायित्व होते है मै कभी पीछे नहीं हटूगी।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!