जनपद न्यूज Live की पड़ताल : पिछली कक्षा के आधार पर स्नातक में पास करने वाला वायरल आदेश निकला फर्जी

रमेश यादव /आनन्द चौबे ( संवाददाता)

सोनभद्र । देश में नोवेल कोरोना वायरस को लेकर चल रही लॉक डाउन के बीच स्नातक स्तर की परीक्षा में पिछली कक्षा के अंक के आधार पर पास करने की आदेश की खबर खूब वायरल हो रही हैं। वायरल खबर में राजकीय पी जी कॉलेज की सूचना 26 मार्च 2020 को जारी करते हुए यह कहा गया है कि कोरोना वायरस के संक्रमण एवं प्रसार से बचाव को ध्यान में रखते हुए उनकी परीक्षाएं 14 अप्रैल तक स्थगित कर दी गई हैं। इसलिए 2019-20 परीक्षा स्थगित कर दी गई हैं । पिछले कक्षा के अनुसार अंक पत्र बना दी गई हैं। इसके बाद सूचना के दाहिनी ओर प्राचार्य के हस्ताक्षर एवं मुहर लगाई गई है जबकि बायीं ओर परीक्षा नियंत्रक का हस्ताक्षर भी बना दिया गया है।

वायरल हो रही खबर की पड़ताल की शुरुआत में सबसे पहले राजकीय पी जी कॉलेज ओबरा के प्राचार्य डॉ प्रमोद कुमार से सम्पर्क किया गया तो उनका कहना था कि यह सूचना पूरी तरह गलत और निराधार है । स्थगित परीक्षा का अभी कोई कार्यक्रम जारी नही की गई हैं।

वहीं भाऊ राव देवरस राजकीय पी जी कॉलेज दुद्धी के परीक्षा प्रभारी डॉ रामसेवक सिंह यादव से उक्त वायरल हो रही सूचना के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय से ऐसी कोई सूचना नही है ।यह वायरल हो रही खबर झूठी एवं भ्रामक है। इस तरह की कोई भी वायरल हो रही खबरों को सही मानने एवं एक दूसरे को फारवर्ड करने से बचना चाहिए और महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं को सलाह दी जाती हैं कि वह अपने कॉलेज से या विश्वविद्यालय की वेबसाइट से ही सही सूचना प्राप्त करें।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!