कोरोना से प्रभावित हुआ स्कूल की परीक्षा, 1 से 8 तक बच्चे बिन परीक्षा के होंगे प्रमोट

प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ । कोरोना को लेकर सरकार किस तरह अपनी तैयारियां कर रखी है उसका नजारा आज कैबिनेट की बैठक के बाद देखने को मिला । यूपी कैबिनेट में सीएम योगी ने कई महत्वपूर्ण फैसलों के साथ कोरोना को लेकर कई नए आदेश निर्गत किये गए । जहां स्कूल कालेजों को 2 अप्रैल तक बन्द करने का आदेश दिया गया वहीं तहसील दिवस व जनता दरबार पर भी पाबंदी लगा दी गयी । यूं कहें ऐसे कार्यक्रमों पर पैनी निगाह बनाकर आदेश जारी किया गया कि किसी भी दशा में भीड़ न जुटने पाए और लोग सुरक्षित व स्वस्थ रहें । सीएम ने धरना प्रदर्शन व धार्मिक स्थलों पर भीड़ इक्कठा न हो इसके लिए धर्म गुरुओं से बात करने के लिए जिलाधिकारियों को निर्देशित किया गया है।
इसी के बाद आज शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने महानिदेशक स्कूल शिक्षा लखनऊ को पत्र लिखकर अवगत कराया है कि बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों के सभी छात्र-छात्राओं को बिना परीक्षा अगली कक्षा में प्रोन्नत कर दिया जाय । अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने प्रदेश के सभी बीएसए को आदेश जारी करते हुए कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया है।

बतादें कि बेसिक शिक्षा विभाग से संबद्ध सभी स्कूलों में एक अप्रैल से नया सत्र शुरू हो जाता है। पहले कक्षा एक से आठवीं तक के विद्यार्थियों की परीक्षाएं 16 से 22 मार्च के बीच होनी थी, जिन्हें बढ़ाकर 23 से 28 मार्च कर दिया गया था। लेकिन अब शासन ने दो अप्रैल तक छुट्टियां बढ़ा दी हैं। जिसके कारण विद्यार्थियों की परीक्षाएं इस सत्र में नहीं हो पाएंगी। इसी के चलते शासन के अपर मुख्य सचिव ने स्कूल शिक्षा के महानिदेशक को स्कूलों को बंद रखने और विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रोन्नत करने के आदेश जारी कर दिए हैं। यह आदेश राजकीय, एडेड और सभी मान्यता प्राप्त निजी विद्यालयों में लागू होंगे। अगर कोई इन आदेशों की अवहेलना करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जाएगी।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!