कालिया नाग का हुआ वध लगे जयकारे

घनश्याम पांडेय/विनीत शर्मा(संवाददाता)

चोपन। नगर के रिलायंस पेट्रोल पंप के पास व्यापार मंडल के सौजन्य से आयोजित रासलीला में तिसरे दिन मंगलवार को श्री विशाखा रमणविहारी रासमंडल वृंदावन से पधारे कलाकारों ने कालीदह लीला का बहुत ही सुंदर प्रस्तुति किये जिसमे कंस महाराज ने नंद राय जी के लिए पत्र भेजा कि यमुना जी में से एक करोड़ निल कमल का फूल चाहिए यदि फूल नहीं आया तो सबकुछ नष्ट कर दिया जायेगा। वृंदावन के समीप यमुना जी में कालीदह नामक एक स्थान था जिसमे बहुत ही विषैला कालिया नाग वास करता था जिसके विष के प्रभाव में तीन योजन उपर तक उड़ने वाले पक्षी भी उसके विष से मर जाया करते थे इसके डर से वहां कोई भी नहीं जाता था।

नारद जी ने आकर कंस को समझाया कि आप तत्काल ब्रज के लिए एक पत्र भिजवायें तब कंस ने कहा कि इस पत्र से क्या फायदा है तब नारद जी ने कहा कि जब नंद राय इस पत्र को पढ़ेंगे तब उस समय सभी ब्रजवासियों मे उथल पुथल मच जायेगा। जिस समय नंदराय पत्र को पढ़कर सब को सुना रहे थे तो भगवान श्री कृष्ण ने भी सुना और बिना किसी से कुछ बताये अपने सभी ग्वाल बाल को साथ लेकर यमुना जी के पास पहुंच गये और टोली बनाकर गेंद खेलने लगे और खेलते खेलते गेंद यमुना जी में जा गिरा यह देख सभी सखा शोर मचाने लगे तब भगवान

श्री कृष्ण ने गेंद लेने के लिए यमुना जी मे कुद गये और यह खबर जैसे ही नंदराय जी को मिली तो पूरा ब्रज यमुना जी के तट पर आ गया तभी भगवान श्री कृष्ण कालिया नाग का वध कर उसे मुक्ति प्रदान किये और एक करोड़ नीलकमल का फूल राजा कंस तक पहुंचाये। इस मौके पर संजय जैन, अजय भाटिया, संदीप अग्रवाल, दिव्य विकास उर्फ बिट्टू सिंह, संतोष गुप्ता, रोशन सिंह, राजेश गोस्वामी, रितेश जैन, संजय चेतन, प्रमोद जैन, सियाराम तिवारी, मनीष सिंह, हनुमान अग्रहरि, हर्श जैन सहीत भारी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!