सभी न्यायालय 21मार्च रहेंगे बंद, होगी सिर्फ विशेष मामलों की सुनवाई

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

– कोरोना से बचाव के लिए लिया गया न्यायालयों पर निर्णय

– 21 मार्च को समीक्षा होने पर लिया जाएगा अगला फैसला

– विशेष मामलों की सुनवाई के लिए खुलेंगी कुछ अदालतें

सोनभद्र । कोरोना वायरस ने पूरे देश में कोहराम मचा रखा हैं। कोरोना संक्रमित मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इसी क्रम में एहतियात बरतते हुए इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने सभी जिला न्यायालयों को पत्र भेजकर अदालतों को 21 मार्च तक बंद करने के निर्देश दिए हैं। पत्र में कहा गया है कि कोरोना से बचने और एहतियात के तौर पर यह कदम उठाया गया है। पत्र में यह भी कहा गया है कि इसके बाद 21 मार्च को समीक्षा की जाएगी। उसके पश्चात अगर स्थिति साफ हुई तो जिला न्यायालयों को खोला जाएगा अन्यथा बंदी की तिथि और आगे बढ़ा दिया जाएगा।

हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल ए0के0श्रीवास्तव की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि सिर्फ विशेष मामलों की सुनवाई के लिए जिला जज और मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट तथा दीवानी मामलों की सुनवाई के लिए सिविल जज वरिष्ठ व कनिष्ठ वर्ग की अदालतें ही खुलेंगी। शेष सभी अदालतों में 21 मार्च तक न्यायिक कार्य नहीं होगा। इस दौरान सभी मुकदमों में सामान्य तारीखें लगा दी जाएंगी। विशेष परिस्थितियों के अलावा कॉमर्शियल कोर्ट, मोटर दावा अधिकरण, भूमि अधिग्रहण, सुधार व पुनर्वास अधिकरण भी बंद रहेंगे।


सोनभद्र बार एशोसिएशन अध्यक्ष सुरेंद्र पांडेय ने बताया कि “हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल ए0के0श्रीवास्तव का पत्र प्राप्त हुआ है। पत्र में 21 मार्च न्यायालयों में जो सामान्य तौर पर कार्य चल रहे हैं वो स्थगित रहेंगे तथा विशेष परिस्थितियों के मामले देखे जाएंगे। बंदियों को न्यायालय में पेशी के लिए जाने की आवश्यता नहीं होगी अब न्यायालय के लॉकअप में ही हाजिरी लगवा दी जाएगी। वहीं सामान्य मुकदमों में सहूलियत दी जा रही है व तारीखें भी 21 मार्च के बाद कि ही दी जा रही हैं।”


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!