अवैध वसूली के आरोप में मुख्य सेविका व पति पर एफआईआर दर्ज

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । सरकारी कार्य में बाधा डालने, अवैध तरीके से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से वसूली करने के आरोप में बाल विकास परियोजना विभाग की एक सुपरवाइजर व उसके पति के खिलाफ आज जिला कार्यक्रम अधिकारी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत सिंह ने तहरीर देकर बताया कि “म्योरपुर बाल विकास परियोजना में मुख्य सेविका के पद पर तैनात आशा श्रीवास्तव व इनके पति अशोक कुमार श्रीवास्तव ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से 29 हजार रुपये की अवैध वसूली की गयी। इसकी शिकायत मिलने पर जब जाँच कराई गई तो आरोप सही पाया गया। अवैध वसूली संबंधी साक्ष्य भी मिले हैं। पीड़ित कार्यकर्तियों ने शिकायत की थी कि मुख्य सेविका के पति अशोक कुमार श्रीवास्तव द्वारा धमकी भी दी जाती है। 30 फीसद कमीशन भी पोषाहार के नाम लिया जबरन लिया जाता था। ऐसे में 21 दिसंबर को बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के निदेशक से अनुशासनात्मक कार्रवाई की स्वीकृति ली गई थी। उसी क्रम में मुख्य सेविका आशा श्रीवास्तव को निलंबित कर दिया गया था। अब दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए तहरीर दिया गया है।”

प्रभारी निरीक्षक अनपरा विजय प्रताप सिंह ने बताया कि “आज जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा मुख्य सेविका व उनके पति के खिलाफ तहरीर दी गयी है। तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।”


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!