सिद्धपीठ महोत्सव का मानस कथा से हुआ आगाज

अबुलकैश डब्बल (ब्यूरो)

चंदौली । धानापुर क्षेत्र के सिद्धपीठ तपोभूमि श्री श्री 1008 परमहंस बाबा प्रसन्नदास जी महाराज कि समाधी शक्ती पीठ खडान में चार दिवसीय सिद्धपीठ महाइच महोत्सव का आगाज श्री राम चरित मानस कथा से हुआ। कथा वक्ता वृंदावन से पधारे अनूप जी महाराज ने राम कि महिमा का बखान करते हुवे सिया राम मय सब जग जानी करहुं प्रणाम जोरि जुग पानी कि व्याख्या बड़े मार्मिक रूप में किया महाराज श्री ने कहा कि इस जगत में जो कुछ भी दृश्य अदृश्य है सब में राम का अंश है सब राम स्वरूप है अगर व्यक्ति ऐसा मान अपना कर्तव्य व्यवहार आचरण करता है तो कलह क्लेश अंश मात्र भी उस व्यक्ति के निकट नहीं जा सकता महाराज जी ने कहा ईश्वर अंश जीव अविनाशी। वहीं महोत्सव के संस्थापक सरंक्षक अंजनी सिंह ने इस महोत्सव को महाइच चंदौली के सभी पूर्वजों परगना और जनपद का किसी भी क्षेत्र में नाम ऊँचा करने वाले गौरव बढ़ाने वाले शहीदों स्वतंत्रता सेनानियों विद्वानों खिलाड़ियों अधिकारियों सहित जनपद के समस्त सम्मानित जनता के सम्मान में समर्पित किया। श्री सिंह ने कहा कि महाइच परगने के धानापुर खड़ान में स्थित सिद्धपीठ तपोभूमि ने देश को एक से बढ़कर एक संत परमहंस जी महाराज ‘ रेखइ राम महाराज ‘ मुराहू बाबा जैसे दिव्य संत अखंडानन्द सरस्वती जैसे विद्वान संत को देने का काम किया है जिन्होंने देश को धर्म का सही अर्थ बताने का काम किया लोगों को दिशा देनें का काम किया साथ ही महोत्सव में आज मशहूर बिरहा गायक बूल्लू मस्ताना और गायिका अंशिका मौर्या का बिरहा रात्री आठ बजे से होगा कथा में बचाऊ सिंह शमशेर सिंह अश्वनी सिंह पप्पू बलवंत सिंह विश्वनाथ लहरी ‘ विजयी खरवार हरिचरन गोंड पन्नालाल विश्वकर्मा सरकार शर्मा उर्मिला सिंह मालती देवी निर्मला सिंह उषा सिंह सहित तमाम क्षेत्रीय लोग मौजूद रहे


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!