रेलवे ने तोड़ा गरीबो का आशियाना, झेलना पड़ा विरोध

घनश्याम पांडेय/विनीत शर्मा (संवाददाता)

चोपन। शुक्रवार को स्थानीय रेलवे प्रशासन द्वारा कैलाश मंदिर के पिछे रेलवे की जमीन पर अवैध कब्जा को जेसीबी मशीन द्वारा धरासाई कर दिया गया इस दौरान रेलवे प्रशासन को काफी जद्दोजहद करनी पड़ी। प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को भारी संख्या में आरपीएफ पुलिस को साथ लेकर रेलवे के अधिकारियों ने मुनादी कराते हुए कैलाश मंदिर के पिछे पहुंचे जहां कैलाश मंदिर के पिछे वर्षों से रह रहे दर्जनों कच्चे पक्के मकानों को जेसीबी मशीन द्वारा धरासाई कर दिया गया । इस दौरान रेलवे प्रशासन को काफी विरोध भी झेलना पड़ा अपना आशियाना उजड़ता देख लोग फूट फूट कर रोने लगे।

गौरतलब है कि विगत कुछ माह से रेलवे अपनी खाली पड़ी जमीनों पर अवैध रूप से कब्जा कर रहे लोगों को हटाने का कार्य युद्ध स्तर पर जारी की है इसके पूर्व में भी नगर के कई स्थानों से अवैध कब्जा हटवाया जा चुका है बिते दिनों रेलवे द्वारा नोटिस जारी कर 13 तारीख तक अवैध कब्जा हटाने का निर्देश दिया गया था जिसके एवज में शुक्रवार को सुबह भारी संख्या में रेलवे पुलिस के साथ रेलवे के अधिकारियों ने अवैध कब्जा को हटवा दिया।

वहीं दूसरी तरफ लंबे समय से अपने परिवार के साथ रह रहे लोग बेघर हो गये जो किसी तरह झुग्गी झोपड़ी लगा कर अपने परिवार का भरण पोषण कर रहे थे ऐसे में उनके सामने भारी समस्या खड़ी हो गई लोगों का कहना है कि उनका सुनने वाला कोई नहीं है आखिर जिस जगह पर हम वर्षों से रह रहे थे जहां आसपास मे रेलवे के उच्चाधिकारियों का आवास भी जब हम लोग अवैध रूप से कब्जा किये थे तो पहले ही क्यों नहीं हटाया गया आज बरसात में हम कहाँ जायें। वहीं रेलवे प्रशासन का कहना है कि रेलवे की जमीन पर किसी भी प्रकार का अवैध कब्जा नहीं करने दिया जायेगा रेलवे से मुकदमा लड़ रहे लगभग 13 लोग मुकदमा हार चुके हैं। रेलवे प्रशासन के इस कृत्य से लोगों में दहशत है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!