भारत में भी आ गया कोरोना वायरस, डरें नहीं, बस इन निर्देशों को अपनाकर करें पालन

अब तक दुनिया के बाकी देशों में खौफ का कारण बना कोरोना वायरस भारत में पहुंच गया है। दिल्ली और तेलंगाना के बाद आगरा और नोएडा में संदिग्ध केस सामने आए हैं। अन्य शहरों में भी लगातार संदिग्ध सामने आ रहे हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि एक आम इन्सान को किन बातों का ख्याल रखना चाहिए कि इस खतरनाक बीमारी से बचा जा सके। www.myupchar.com से जुड़े एम्स के डॉ. अजय मोहन के अनुसार, कोरोना वायरस एक तरह का वायरल इन्फेक्शन है जो मुख्य रूप से श्वसन तंत्र, नाक और गले को प्रभावित करता है। चीन से निकलकर अन्य देशों में खौफ का कारण बनने वाले कोरोना वायरस को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दिशा-निर्देश जारी किए हैं। यदि इन निर्देशों का ठीक से पालन किया जाए तो बीमारी से बचा जा सकता है। जानिए क्या हैं ये दिशा-निर्देश –

साफ-सफाई का पूरा ख्याल रखें। बाहर से घर लौटें तो हाथ धोए बगैर कुछ न खाएं। हाथ अच्छी तरह धोएं। साबुन लगाने के बाद कम से कम आठ सेकंड तक हाथ रगड़ें। बाजार के फास्ट फूड और तले-गले खाद्य पदार्थों के बजाए घर का बना खाना खाएं।
सार्वजनिक स्थानों पर जाएं तो मास्क जरूर पहनें। जहां तक संभव हो, ऐसे स्थानों पर जाने से बचें, जहां भारी भीड़ जुट रही हो। पब्लिक ट्रांसपोर्ट के स्थान पर खुद के वाहन का इस्तेमाल करें। अनजान लोगों के सम्पर्क में न आएं। यदि किसी से मिल रहे हैं तो शारीरिक सम्पर्क से बचें।
खुद को स्वस्थ्य रखने के लिए योग और आयुर्वेद आजमाएं। जैसे रोज योग करें। इससे शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता बढ़ेगी। ऐसे योग करें, जिनसे श्वसन तंत्र को मजबूती मिलती है। गिलोय की गोली जैसे आयुर्वेद के नुस्खे आजमाकर खुद को सभी तरह की बीमारियों से दूर रखा जा सकता है।
ऐसे लोगों से दूर रहें, जिन्हें सर्दी जुकाम या किसी तरह की संक्रामक बीमारी है। खासतौर पर बच्चों को स्कूल में बीमारियों से दूर रखने के उपाय करें। यदि स्कूल में खाना खाने से पहले पानी से हाथ साफ करना संभव नहीं हो रहा है तो सेनेटाइजर का इस्तेमाल करवाएं।
हेल्दी फूड खाएं। खासतौर पर मांसाहारी भोजन से दूर रहें। हरी पत्तेदार सब्जियों का ज्यादा इस्तेमाल करें। पत्तेदार सब्जियों को बनाने से पहले अच्छी तरह से साफ करें।
www.myupchar.com से जुड़े एम्स के डॉ. अजय मोहन के अनुसार, यदि किसी ऐसी चीज को स्पर्श किया है जो स्वच्छ नहीं है तो हाथों को धोए बिना मुंह, आंख या नाक न छुएं। नवजात बच्चों के साथ ही बुजुर्गों का खास ख्याल रखें।

क्या है कोरोना वायरस का इलाज:
कोरोना वायरस का पुख्ता इलाज अब तक नहीं खोज जा सका है। दुनिया की कुछ दवा कंपनियों ने इसका इलाज खोजने का दावा किया है, लेकिन पुष्ट इलाज नहीं मिला है। ऐसे में दुनियाभर में कोरोना वायरस के लक्षणों का इलाज किया जा रहा है। डॉ. अजय मोहन के अनुसार, बुखार के लिए एंटीपायरेटिक जैसे पैरासिटामोल दी जा सकती है। वहीं शरीर में पानी की कमी दूर करने के लगातार पानी पीने की सलाह दी जा सकती है। गले में दर्द के लिए एंटीबायोटिक दवाएं दी जाती हैं। यदि किसी तरह की संक्रामक बीमारी की आशंका है तो तत्काल डॉक्टर को दिखाएं।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!