सचिन पायलट ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने की बात को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया

राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने की बात को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मेरा मानना है कि इस पूरे मामले को पार्टी के अंदर सहयोगपूर्वक सुलझाया जा सकता था।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद बुधवार को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की मौजूदगी में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की। वह लगभग 18 वर्षों तक कांग्रेस में रहे। उन्हें कांग्रेस में राहुल गांधी का सबसे विश्वस्त माना जाता था।

सचिन पायलट ने ट्वीट किया, ”ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस से अलग हो रहे हैं। मुझे लगता है कि पार्टी के भीतर चीजों को सुलझाया जा सकता था ।”

बीजेपी में शामिल होने के बाद आज सिंधिया ने मीडिया के सामने कहा कि कांग्रेस अब पहले जैसी पार्टी नहीं रही । उन्होंने कहा कि कांग्रेस में नए नेतृत्व को मान्यता नहीं है । उन्होंने कहा, ‘‘अभी जो कांग्रेस पार्टी है, वह पार्टी नहीं है जो पहले थी। ’’ उन्होंने कांग्रेस छोड़ने की वजह में कांग्रेस पार्टी में वास्तविकता से इंकार और नई सोच, विचारधारा और नए नेतृत्व को मान्यता नहीं मिलना बताया ।

उधर राहुल गांधी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को मिलने का समय नहीं देने संबंधी आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि सिंधिया उनके घर कभी भी आ सकते थे ।दरअसल, गांधी से सवाल किया गया था कि क्या सिंधिया को सोनिया गांधी या आपसे (राहुल) मिलने का समय नहीं दिया जा रहा था? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि सिंधिया इकलौते शख्स हैं जो उनके घर कभी भी आ सकते थे ।

बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया शुक्रवार को मध्यप्रदेश की राज्यसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल करेंगे । बीजेपी ने बुधवार को मध्यप्रदेश से ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा के पार्टी उम्मीदवार के रूप में नामित किया ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!