कोरोना वायरस के कारण रद्द हो सकता है पीएम मोदी का बांग्लादेश दौरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 17 मार्च को प्रस्तावित बांग्लादेश यात्रा भी कोरोना वायरस संकट के मद्देनजर टलने की पूरी संभावना है । बांग्लादेश में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आने के बाद शेख हसीना सरकार ने ढाका में होने वाले मुजीबुर्रहमान जन्मशती उद्घाटन समारोह को अब छोटे स्तर पर मनाने का फैसला किया है ।

हालांकि फिलहाल पीएम मोदी के यात्रा कार्यक्रम में बदलाव का कोई आधिकारिक एलान नहीं किया गया है । अधिकारिक सूत्रों के मुताबिक बांग्लादेश सरकार की तरफ से शेख मुजीबुर्रहमान जन्मशती कार्यक्रम में बदलाव संबंधी मीडिया रिपोर्ट हमनें भी देखी हैं, लेकिन इस बारे में अभी तक औपचारिक और आधिकारिक तौर पर कोई सूचना नहीं दी गई है । ऑफीशियल अनाउंसमेंट के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा ।

सेलिब्रेशन कॉम के अध्यक्ष कमाल अब्दुल चौधरी ने कहा कि COVID-19 से संबंधित सार्वजनिक स्वास्थ्य घटनाओं को देखते हुए जन्म शताब्दी समारोह या तो स्थगित किया जा रहा है या उसका दायरा कम किया जा रहा है। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना बिना किसी सार्वजनिक सभा के समारोह का उद्घाटन करेंंगी।

बांग्लादेश सरकार ने लोक स्वास्थ्य की चिंताओं को देखते हुए लोगों की भारी भीड़ के जमा होने पर रोक लगाई है । साथ ही ढाका के नेशनल परेड ग्राउंड पर होने वाले भव्य समारोह को टालने और छोटे स्तर पर आयोजन को मनाने का फैसला किया है । ऐसे में आयोजन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत जिन विदेशी मेहमानों को आमंत्रित किया गया था उनके भी नहीं पहुंचने की संभावना है ।

बांग्लादेश में राष्ट्रपिता का दर्जा रखने वाले बंग बंधु शेख मुजीबुर्रहमान का जन्मशती वर्ष कार्यक्रम पूरे साल भर चलना है । सूत्रों के मुताबिक पीएम नरेंद्र मोदी इस दौरान कभी भी ढाका जा सकते हैं । महत्वपूर्ण है शेख मुजीब शताब्दी वर्ष कार्यक्रम के लिए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी को भी आमंत्रित किया गया था ।

दुनिया भर के 90 से अधिक देशों में फैल चुके कोरोना वायरस संक्रमण के चलते सभी देश काफी एहतियात बरत रहे हैं। कोरोना की चिंताओं के मद्देनजर भारत-यूरोपीय संघ शिखर बैठक के लिए प्रधानमंत्री मोदी की बेल्जियम यात्रा भी रद्द हो चुकी है। इस बैठक के लिए पीएम को 13-14 मार्च को बेल्जियम यात्रा भी करनी थी ।

बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि अब तक विश्व में नोवेल कोरोना वायरस निमोनिया के एक लाख से ज्यादा मामलों की पुष्टि की गई है। डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार 7 मार्च को 10 बजे तक विश्व में नोवेल कोरोना वायरस निमोनिया के 1 लाख 1 हजार 9 सौ 27 मामलों की पुष्टि की गई और 3 हजार 4 सौ 86 की मौत हो गई है। वक्तव्य के अनुसार चीन और अन्य देशों के अनुभव ने यह साबित कर दिया है कि कुछ उपायों से वायरस के प्रसार को धीमा किया जा सकता है जिससे महामारी का प्रभाव कम हो सकता है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!