अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर लिया महिला शिक्षा व सम्मान की शपथ

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । शक्ति स्वरूपा स्त्री के सम्मान व मजबूती के लिए आज सभी वर्गों ने आवाज बुलंद की। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों, सामाजिक संगठनों समेत तमाम संस्थानों ने महिला दिवस मनाया। महिला सशक्तिकरण के आह्वान के साथ महिला शिक्षा व सम्मान की शपथ भी ली गई। पुरुषों ने महिलाओं के सम्मान व उनके हक की लड़ाई को मजबूत किया। वहीं महिलाओं ने भी अपने-अपने अधिकारों के प्रति जागरुक रहने का आह्वान किया। इसी क्रम में आज जिला संयुक्त चिकित्सालय परिसर में महिला कल्याण विभाग व बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग की तरफ से एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि प्रसिद्ध कवयित्री डॉ0 रचना तिवारी तथा विशिष्ट अतिथि राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित डॉ0 ओम प्रकाश तिवारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत सिंह, महिला कल्याण अधिकारी नीतू यति मौजूद रहे।

इस दौरान मुख्य अतिथि डॉ0 रचना तिवारी ने लैंगिक असमानता पर अपने विचार साझा करते हुए कहा कि “जरूरत इस बात को समझने की है कि स्त्री और पुरुष दोनों एक दूसरे के पूरक हैं प्रतिस्पर्धी नहीं और मानव सभ्यता के विकास एवं एक सभ्य समाज की की रचना के लिए एक-दूसरे के प्रति संवेदनशीलता व सम्मान का भाव आवश्यक है। यहीं महिलाएं अपनी आजीविका से परिवार का भरण-पोषण करती हैं लेकिन जब वेतन की बात आती है तो हम पुरुषों की तुलना में महिलाओं को उसी काम के लिए समान वेतन नहीं देना चाहते। यह हालात तब हैं जब महिलाएं अपने काम के प्रति अधिक समर्पित और ईमानदार भी हैं। उन्होंने पुरुषों से अपेक्षा कि महिलाओं को आज के समय के हिसाब से समझने का प्रयास करें।”

इस दौरान जिला प्रोबेशन अधिकारी डॉ0 ए0के0पौत्स्यायन ने कहा कि “इस कार्यक्रम के माध्यम से जनपद की महिलाओं को खासकर बेटियों को एक ऐसा वातावरण उपलब्ध कराया जाय ताकि ना वो सिर्फ शिक्षित व संस्कारी हो बल्कि समाज की मुख्यधारा में शामिल होकर के अपनी महती भूमिका अदा करें।”

इस दौरान भारी संख्या में महिलाएँ मौजूद रही।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!