अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस सीएससी लक्ष्मी अवॉर्ड से सम्मानित हुयी महिलायें

घनश्याम पांडेय/विनीत शर्मा (संवाददाता)

चोपन । अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलाओं के प्रति सम्मान, प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए महिलाओं के लिए खास कार्यक्रम आयोजित होते हैं। महिलाओं के अधिकार, उनके सम्मान और अर्थव्यवस्था में उनकी भागीदारी की चर्चा होती है। इस वर्ष भी सीएससी डीएम के निर्देशानुसार सीएससी लक्ष्मी अवॉर्ड कार्यक्रम चोपन में सावित्री कॉमन सर्विस सेंटर पर आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में अनीश अहमद चेयरमैन प्रतिनिधि चोपन उपस्थित रहे।उक्त कार्यक्रम में मुख्य रूप से स्थानीय समाज के उन महिलाओं को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया जो महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में अपने विशेष योगदान दे रही है।पीएमजीडीशा के प्रशिक्षण प्राप्त किये महिलाओं को प्रमाण पत्र दिया गया साथ ही अन्य उपस्थित महिलाओं का श्रम योगी मानधन व पीएमजीडीशा का पंजीकरण भी किया गया।

कार्यक्रम के दौरान मुख्य रूप से महिला स्वास्थ्य सुरक्षा, डिजिटल लिटरेसी, पीएमजीडीशा,चित्रकला, साईबर सुरक्षा, वित्तीय समावेशन, पेन्शन,कन्या सुमंगला योजना,आयुष्मान भारत, महिला समाज कल्याण आदि विषयों सहित डिजिटल सेवा पोर्टल पर उपलब्ध सेवा के विषय में चर्चा किया गया।सावित्री देवी ने कहा कि सीएससी के जरियें महिलाओं को आगे बढ़ने के ज्यादा मौके मिल रहे हैं। महिलाओं को उद्यमी के तौर पर स्वयं अपना सामर्थ्य दिखाने का मौका मिल रहा है।प्रधान मंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान के माध्यम से महिलाओं को देश भर में डिजिटल साक्षर बनाया जा रहा है।अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत दरअसल महिलाओं ने ही अमेरिका के न्युयोर्क शहर से अपने हक के लिए की थी। बाद में इसे संयुक्त राष्ट्र ने आधिकारिक मान्यता प्रदान की। ये महिलाएं ही हैं जो हमें अपने हक के लिए लड़ना सिखाती हैं। आज के दिन महिलाओं, उनकी उपलब्धियों के लिए सम्मानित किया जाता है।इस दिन न केवल महिलाएं अपनी खुशी जाहिर करती हैं, बल्कि हर पुरुष भी उनका आदर -सत्कार और प्रोत्साहित करता है ताकि हर लिंग का व्यक्ति एक समान दुनिया का निर्माण कर सके।अनीश अहमद ने कहा कि धरती से लेकर पाताल तक हर क्षेत्र के निर्माण में महिलाओं का अतुलनीय योगदान है। महिलाएं ही बिजनस, उद्यमी कार्यों और वेतनरहित श्रम के रूप में अर्थव्यवस्था में काफी बड़ा योगदान देती हैं। कॉरपोरेट्स जगत की बात करें तो आज हर बड़े पद पर महिलाओं का ही वर्चस्व है। भारत से पुरुष प्रधान देश में भी महिलाओं ने अपने कौशल कार्य से अपनी अलग पहचान बनाई और साथ ही मां, बहन, बेटी, पत्नी के रूप में अहम् भूमिका निभाई है।कार्यक्रम में मुख्य रूप से उपस्थित रेंजु देवी,गीता देवी,कृष्णावती देवी,शबाना परवीन,सलमा बेगम,रजिया बेगम,हसीना बेगम,शालिनी,मुस्कान,जेबा कायनात,नरगीश,
पूनम देवी,ज्योति,राज कुमारी देवी,ज्योति,सविता देवी व दर्जनों महिलाये कार्यक्रम में उपस्थित रही।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!