पार्षद ताहिर हुसैन पर एसआईटी ने कसा शिकंजा, पूछताछ के बाद तीन और गिरफ्तार

उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा के मामले में गिरफ्तार दिल्ली के निगम पार्षद ताहिर हुसैन पर एसआईटी का शिकंजा कसता जा रहा है । वहीं अब ताहिर हुसैन से पूछताछ के बाद दिल्ली क्राइम ब्रांच की एसआईटी ने तीन और लोगों को गिरफ्तार किया है।

सात दिन की पुलिस रिमांड पर चल रहे ताहिर हुसैन की घटना वाले दिन की कुंडली खंगालने पर मामले की जांच कर रही एसआईटी को काफी कुछ जानकारियां हासिल हुई हैं । अब गिरफ्तार किए गए लोगों का नाम तारिक रिजवी, लियाकत और रियासत है ।

पुलिस के मुताबिक तारिक रिजवी ताहिर हुसैन के कासना में फैक्ट्री का मैनेजर है। उसे जाकिर नगर में शरण दी थी । वहीं लियाकत और रियासत चांद बाग के रहने वाले हैं और उन पर दंगों में शामिल होने का आरोप है ।

वहीं दिल्ली में हुई हिंसा में शामिल होने के आरोपी ताहिर हुसैन की लाइसेंसी पिस्टल और 24 कारतूस पुलिस ने जब्त कर लिए हैं। पुलिस ने खुलासा किया है कि हिंसा के दौरान ताहिर के पास ये पिस्टल घर पर थी ।।बाद में ये पिस्टल किसी जानने वाले के पास रखी थी ।

पुलिस ने कहा कि पिस्टल को फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है, जिससे पता चल सके कि इस पिस्टल से कोई फायर हुआ था या नहीं । वहीं ताहिर हुसैन का मोबाइल फोन भी बरामद कर लिया गया है ।

ताहिर हुसैन के कॉल रिकॉर्ड से पता चला कि वह 24 से 27 फरवरी तक मुस्तफाबाद के पास ही था । चांद बाग भी मुस्तफाबाद में पड़ता है. ताहिर का दावा है कि हिंसा के दौरान और बाद में वो अपनी बिल्डिंग या बिल्डिंग के आसपास की गलियों और इलाकों में रहा । 27 फरवरी के बाद उसकी लोकेशन दिल्ली के जाकिर नगर में मिली थी, उसके बाद उसका फोन बंद हो गया था।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!