पसाई गांव में तीसरे दिन भी पसरा सन्नाटा

कुलदीप यादव (संवाददाता)
– बुधवार की रात भी बेघर लोगो ने दूसरे के घर गुजारी
– जिला प्रसाशन का नही मिला सहयोग
राशन के अभाव में भूखों तड़प रहे पीड़ित

कमालपुर । चन्दौली बरहनी विकाज़ खण्ड के पसाई गांव में मंगलवार व बुधवार को जिला प्रशासन ने तालाब अतिक्रमण कर अपना आशियाना बनाने वाले 28 चिन्हित लोगो को इलाहवाद उच्च न्यायालय के आदेश परबुलडोजर चलवाकर पक्का व कच्चा मकान धराशयी कर दिया।जिला प्रशासन की इस कार्यवाही से सभी बेघर हो गए।उनके घरों में रखे खाद्य पदार्थ भी नष्ट हो गए।जिस कारण उन्हें भोजन के लाले पड़ गए।उपजिलाधिकारी सदर के आदेश के भी गुरुवार को पीड़ितों तक नही पहुचा खाद्यन्न।
पीड़ितों को पूर्व विधायक ने दिलाया भरोसा
हम जिला प्रशासन से लड़ेंगे आर पार की लड़ाई

पसाई गांव में गुरुवार को सैयदराजा के पूर्व विधायक मनोज कुमार सिंह ने जाकर उनके दुख दर्द को सुना और कहा की जिला प्रशासन पीड़ितों को भूमि व आवास की समुचित व्यवस्था करें।अन्यथा हम गरीबो के हक को लेकर सड़क पर सघर्ष करेंगे। वही उन्होंने राजस्व निरीक्षक व लेखपालों द्वारा गांव की बजर भूमि की की जा रही पैमाईश को भी जाकर देखा तथा कहा कि समुचित व्यवस्था के हिसाब से भूमि दी जाय।वही से जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी से टेलीफोन पर वार्ता कर पीड़ितों की मदद की गुहार की।उन्होंने असन्तोष व्यक्त करते कहा की जिला प्रशासन तीन दिन वाद भी पीड़ितों को राशन नही दे सका तो क्या उम्मीद की जाय पीड़ितों की भरपूर मदद होगी।उन्होंने आगे कहा कि जिला प्रशासन कागजो में काम न करे अन्यथा आगे हम आर पार की लड़ाई लड़ेंगे। वही पीड़ित रमेश खरवार के परिवार से मिलकर ढाढस बढ़ाया और कहा की बिटिया की शादी में हम भरपूर मदद करेंगे। इस दौरान अखिलेश सिंह, गुड्डू सिंह, अमित बाबा, सिंटू सिंह, भरत निगम, रामदयाल भारती, सुनील यादव सहित अन्य ग्रामीण उपस्थि रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!