दुद्धी विधायक को आखिर बार-बार क्यों सता रहा 2022 में सत्ता जाने का डर

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । रविवार को रॉबर्ट्सगंज के आरटीएस मैदान में सोनांचल संघर्ष वाहिनी के प्रथम राष्ट्रीय सम्मेलन के अवसर पर बीजेपी के सहयोगी दल अपना दल (एस) के दुद्धी विधायक हरिराम चेरो ने प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव के साथ मंच साझा करना चर्चा का विषय बनता जा रहा है। इसी दौरान विधायक हरिराम चेरो ने शिवपाल यादव के सामने सीएम योगी के कार्यशैली को लेकर भी सवाल उठाया। दुद्धी विधायक ने सीएम योगी को नसीहत देते भी दिखे कि यदि मुख्यमंत्री इसी प्रकार अधिकारियों की सुनते रहे तो 2022 उनके हाथ से निकल जायेगा। विधायक का तर्क है कि जब सीएम जनप्रतिनिधियों की नहीं सुनेंगे, कोई समस्या का हल नहीं करेंगे तो फिर जनप्रतिनिधि होने का क्या फायदा।

विधायक का कहना ही कि अधिकारी अपनी मनमानी कर रहे है और उन्हीं की रिपोर्ट को मुख्यमंत्री जी सही मानकर काम कर रहे हैं। विधायक का दर्द है कि जब जनता की समस्या का हल वे नहीं करा पाएंगे तो चुनाव में वे जनता के सामने कैसे जाएंगे।
विधायक हरिराम चेरो का यह बयान कोई पहली बार नहीं आया है। तो क्या दुद्धी विधायक को अभी से ही 2022 में सत्ता चले जाने का डर सताने लगा है। खनन को लेकर अक्सर अपने ही सरकार में मुखर होने वाले दुद्धी विधायक अन्य मुद्दों को लेकर इतने मुखर या मोर्चा खोलते नहीं दिखते। विधायक के बयान को लेकर देखा जाय तो क्या बीजेपी के सहयोगी दल सोनभद्र में खनन को लेकर ही चुनाव लड़ेगी जबकि सरकार की तमाम ऐसी योजनाएं हैं जिसमें बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां व घोटाले हैं। नीति आयोग वाले जनपद सोनभद्र में सरकार 6 बिंदुओं पर काम कर रही है जिसमें शिक्षा, स्वास्थ्य पेयजल प्रमुख है और यदि आंकड़ों को खंगाला जाय या फिर मीडिया रिपोर्ट को देखा जाय तो उपरोक्त विषय दुद्धी विधान सभा में बदत्तर स्थिति में चल रहा है लेकिन इसके लिए विधायक कभी मुखर या आंदोलन नहीं किये। रावर्ट्सगंज में दुद्धी विधायक द्वारा खनन में अनिमियता को लेकर उठाये गए सवाल कहीं न कहीं भाजपा के ओबरा विधायक के लिए भी सबक है क्योंकि जो सवाल दुद्धी विधायक ने बेबाकी से उठाया वे ओबरा विधायकने आखिर पहले क्यों नहीं उठाया।
दुद्धी विधायक हरिराम चेरो ने सवाल खड़ा करते हुए कहा कि किसके आखिर आदेश पर 250-300 फ़ीट गड्ढा कर लिया गया ? उन्होंने कहा कि ऐसे तमाम खदानें हैं जो मौत के खाई में तब्दील हो गयी है मगर अधिकारियों की मिलीभगत से चल रहा है।

गौर करने वाली बात यह है कि जिस तरह से दुद्धी विधायक के बातोंका समर्थन शिवपाल यादव ने भी किया ऐसे में राजनीति की क्या खिचड़ी पक रही है यह तो वक्त ही बताएगा। मगर इस खिचड़ी की चर्चा न सिर्फ रावर्ट्सगंज बल्कि पूरे जनपद में हो रही है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!