खनन अधिकारी के वायरल वीडियो का होगा टेस्ट, हो सकती है बड़ी कार्यवाही

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

वायरल वीडियो ने खोली प्रशासन की पोल, खनन मालिक के प्रतिनिधि बन कर बात करते दिखे अधिकारी

– क्या खनन माफिया व अधिकारी का है कोई गहरा कनेक्शन

– शिवपाल बोले – मुख्यमंत्री ईमानदार मगर अधिकारियों पर कम है पकड़, इसलिए हो रहा भ्रष्टाचार

सोनभद्र । खनन अधिकारी का वायरल वीडियो प्रशासन के लिए गले की हड्डी बन गया है । खनन अधिकारी जिस तरीक़े से खनन माफियाओं के प्रतिनिधित्व करने पहुंचे थे उससे एक बात साफ हो गया कि अधिकारियों व खनन माफियाओं का कनेक्शन कितना गहरा है । खनन की घटना के बाद पूरे प्रदेश में लोग दुःख प्रकट कर रहे हैं सूबे के मुख्यमंत्री स्वयं हादसे पर दुःख प्रकट करते हुए मुवावजे की रकम बढ़ा कर 4 लाख कर दिया और तत्काल जांच के लिए जिले के प्रभारी मंत्री को निर्देशित किया वहां उन्हीं के अधिकारी द्वारा किस तरीके से आदिवासी गरीब मजदूरों को मुकदमा न करने की सलाह दे रहे हैं । इस घटना को लेकर जहां जिम्मेदार अधिकारी को गरीब मजदूरों के साथ होना चाहिए वही अधिकारी कैसे खनन मालिकों की भाषा बोलते दिखे।

प्रभारी मंत्री सतीश चंद्र द्विवेदी ने भी वायरल वीडियो की जांच कराए जाने की बात कही । उन्होंने कहा है कि यदि जांच में सत्यता पाई गई तो अधिकारी के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही होगी ।
कुल मिलाकर यब कहा जा सकता हैं कि इसी खनन माफिया और अधिकारियों के कनेक्शन ने होली से पहले जिस तरीके से कई परिवारों की होली बदरंग कर दी है कहीं ऐसा न हो कि जांच रिपोर्ट मिलते ही मुख्यमंत्री खनन माफिया समेत कई अधिकारियों की होली फीकी कर दें ।

बहरहाल अब किसी को इंतजार है शासन स्तर पर कार्यवाही की । अब देखने वाली बात यह है कि इस खनन हादसे की गाज किस-किस पर गिरती है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!