प्रभारी मंत्री ने किया खनन क्षेत्र के घटना स्थल का दौरा, बोले नहीं बख्शे जायेंगे दोषी

कृपाशंकर पांडेय (संवाददाता)

– सीएम के निर्देश पर प्रभारी मंत्री ने किया खनन हादसे की जाँच

– प्रभारी मंत्री बोले घटना को लेकर ना सिर्फ वो बल्कि सीएम भी हैं आहत

– घटना की होगी निष्पक्ष जाँच, दोषियों पर होगी कड़ी कार्यवाही, बोले प्रभारी मंत्री

– वायरल वीडियो पर बोले प्रभारी मंत्री, जाँच के बाद दोषी पाए जाने वाले अधिकारी पर होगी कड़ी कार्यवाही

– प्रभारी मंत्री ने कहा सांसद से पत्र पर क्यों गंभीरता से नहीं लिया गया, होगी जाँच

– प्रभारी मंत्री निजी चिकित्सालय पहुँच घायलों के परिजनों को सौंपा 50हजार रुपये का चेक

– बोले शिवपाल, खनन हादसे के लिए सरकार व खनन मालिक जिम्मेदार

– शिवपाल ने की मृतकों को 50 लाख व घायलों को 20 लाख रुपये देने की माँग

ओबरा बिल्ली मारकुंडी खनन क्षेत्र में शुक्रवार को एक खनन हादसे में 5 लोगों की मौत के बाद सीएम योगी ने इसे गंभीरता से लिया है । खदान हादसे में मृतकों को आर्थिक सहायता के रूप में चार लाख और घायलों को ₹50 हजार देने की घोषणा करने के बाद सीएम योगी ने इसकी जांच के लिए जिले के प्रभारी मंत्री व बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री सतीश द्विवेदी को सोनभद्र भेजा । प्रभारी मंत्री बिल्ली मारकुंडी के खनन क्षेत्र में पहुंचते ही बीजेपी के कार्यकर्ता उन्हें नीचे जाने से रोकने लगे, उनका कहना था खदान का घटना स्थल काफी नीचे है और रास्ता काफी भयावह है । लिहाजा आप यहीं से पूरा नजारा देख सकते हैं । उसके बाद प्रभारी मंत्री एवं बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री सतीश द्विवेदी ऊपर से ही खनन क्षेत्र का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान तमाम मीडिया कर्मी व अन्य लोगों ने मंत्री को बताया कि यहां कैसे मानकों की अनदेखी की जाती है और यह पहाड़ी कैसे धीरे-धीरे मौत के खदान में तब्दील हो गया । तमाम जानकारी लेने के बाद प्रभारी मंत्री सतीश द्विवेदी मीडिया से मुखातिब हुए । उन्होंने कहा कि घटना को लेकर ना सिर्फ वे बल्कि सीएम भी काफी आहत है । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के आदेश पर उन्हें निरीक्षण व जांच करने के लिए सोनभद्र भेजा गया है। प्रभारी मंत्री ने सवालों का जवाब देते हुए कहा कि इस घटना में पूरी निष्पक्ष तरीके से जांच की जाएगी और जांच के दौरान जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी ।
खनन अधिकारी द्वारा परिजनों को लुभाने और मुकदमा कायम न करने का वीडियो वायरल होने के मामले पर कहा कि उन्हें वायरल वीडियो की जानकारी नहीं है, इसकी भी जांच कराई जाएगी और जो भी दोषी अधिकारी होगा उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी । उन्होंने कहा कि वे जांच रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंपेंगे और भविष्य में इस तरह की खदान में घटना ना हो और पुनरावृति ना हो इसके लिए भी नियम बनाए जाएंगे ।
सांसद पकौड़ी लाल कोल द्वारा अक्टूबर 2019 को पत्र लिखकर इसी खदान के बारे में अवगत कराया गया था जिसे अधिकारियों द्वारा संज्ञान नहीं लिया गया, इस सवाल पर प्रभारी मंत्री ने कहा कि उन्हें यहां आकर इस पत्र के बारे में जानकारी हुई है, वे सांसद पकौड़ी लाल कोल से मुलाकात कर उस पत्र को अवश्य लेंगे और उसकी भी गहनता से जांच कराई जाएगी कि आखिर सांसद द्वारा पत्र लिखने के बाद उसे गंभीरता से क्यों नहीं लिया गया ।

गुरमुरा संवाददाता संजय केशरी के अनुसार,

खनन क्षेत्र का निरीक्षण करने के बाद प्रभारी मंत्री सतीश द्विवेदी सीधे गुरमुरा से होते हुए पटीहवा पहुँचकर मृतक परिवार को चार-चार लाख का चेक देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के आदेशानुसार पहले दो लाख ही चेक देने का निर्णय लिया था परन्तु बाद में चार लाख कर दिया जो हम आप मृतक परिवार को दे रहे हैं । उसके बाद प्रभारी मंत्री ने कहा कि आप लोगों को सरकार से जो भी सहयोग मिलेगा वह आपके पास पहुँच जाएगा, आप लोगों को कहीं नहीं भटकना पड़ेगा ।

उसके बाद प्रभारी मंत्री, विधायक, डीएम, एसपी, एसडीएम, तहसीलदार, पूर्व सांसद छोटेलाल खरवार, धर्मवीर तिवारी एवं सीओ पिपरी, चोपन थानाध्यक्ष, कोन थानाध्यक्ष, हाथीनाला थानाध्यक्ष व जिले के सभी आलाधिकारी जंगल के रास्ते श्मशान तक जा कर शवों हाथ जोड़ते हुए अंतिम विदाई दिया।

ततपश्चात प्रभारी मंत्री गुरमुरा मृतक परिवार के परिजनों से मुलाकात करने पहुंचे वहां पर उन्होंने परिजनों से मुलाकात कर उन्हें सरकार की तरफ से आश्वासन दिया कि सीएम खुद इस मामले पर गंभीर हैं और उन्होंने मुआवजे की रकम दो लाख से बढ़ाकर चार लाख किया है उन्होंने परिजनों को आश्वासन दिया कि उन्हें किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं होगी और ना ही उन्हें भागदौड़ करना पड़ेगा।
मौके पर मौजूद अधिकारियों को निर्देशित करते हुए सभी मृतक परिजनों को सरकार द्वारा दी जाने वाली सभी सुविधाओं को मुहैया कराने का निर्देश प्रभारी मंत्री ने दिया।

खदान हादसे पर बोले शिवपाल यादव

मुख्यालय संवाददाता आनन्द कुमार चौबे ने बताया कि आज सोनांचल संघर्ष वाहिनी के प्रथम राष्ट्रीय सम्मेलन में शिरकत करने सोनभद्र पहुँचे शिवपाल यादव कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से मुखातिब हुए और पत्रकारों के सवालों का जवाब दिया।
बीते 28 फरवरी को ओबरा खनन क्षेत्र में हुए हादसे पर बोलते हुए प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने कहा कि इस हादसे के लिए पूरी तरह से सरकार जिम्मेदार है। सरकार के मंत्री का यह बयान कि खनन केंद्र सरकार कराती है, दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार को सर्वप्रथम पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता देनी चाहिए। उन्होंने मृतकों को सरकार की तरफ से 25 लाख व खदान मालिक की तरफ से 25 लाख रुपये व घायलों को 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की माँग की। उन्होंने कहा कि मैं भी तीन वर्ष खनन मंत्री रहा लेकिन मेरे कार्यकाल में किसी प्रकार की कोई शिकायत नहीं रहती थी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार बढ़ गया है। अफसरशाही में मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ की पकड़ नहीं है। इस कारण यह हो रहा है। हालांकि उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ईमानदार बताया। शिवपाल ने कहा, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ईमानदार हैं हम इस बात को मान रहे हैं लेकिन उनकी नौकरशाही में लगाम कम होने से लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है और भ्रष्टाचार बढ़ रहा है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!