अग्नि प्रज्वल्लित होते ही यज्ञशाला की परिक्रमा प्रारंभ

धर्मेन्द्र गुप्ता(संवाददाता)

-थाना क्षेत्र के हरनाकछार गांव में मलिया नदी के पावन तट पर चल रहे श्री राम चरित मानस नवाह परायण महायज्ञ का पांचवा दिन

विंढमगंज। विकास खंड दुध्दी के अंतर्गत ग्राम पंचायत हरनाकछार में मलिया नदी के तट पर मलेश्वर महादेव मंदिर के प्रांगण में चल रहा विष्णु महायज्ञ में आज पांचवें दिन काशी से आए विद्वान यज्ञआर्चाय नारायण महाराज जी ने यज्ञशाला में “सर्वे भवंतु सुखिनः,सर्वे संतु निरामया। “सर्वे भद्राणि पश्यंतु, मां कश्चित् दुख भाग भवेत”।। के साथ यजमानो के द्वारा अरणी मंथन के पश्चात अग्नि प्रवेश हवन कुंड में कराया गया। अग्नि देव के उत्पन्न होते ही “यज्ञ महाराज की जय”, “अग्नि देव की जय”,” विष्णु भगवान की जय”,” बजरंग बली की जय” के नारों के साथ पूरा इलाका गूंजने लगा। मौजूद सैकड़ों श्रद्धालुओं ने यज्ञशाला की परिक्रमा प्रारंभ कर दी। वहीं यज्ञ के अध्यक्ष यदुनाथ प्रसाद यादव ने बताया कि यज्ञ की पूर्णाहुति बुधवार को दोपहर के बाद संपन्न हो जाएगा।

इस बीच जगह-जगह से आए हुए विद्वान पंडितों के द्वारा प्रतिदिन दोपहर 2:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक प्रवचन कराया जा रहा है तथा रात्रि को 8:00 बजे से वृंदावन से आए हुए रासलीला मंडली के द्वारा भगवान श्री कृष्ण की बाल लीला का आयोजन हो रहा है। पूरे कार्यक्रम के दौरान यज्ञ समिति के अमरजीत चंद्रवंशी, सुरेंद्र कुमार ,बैजनाथ प्रसाद, महेंद्र प्रसाद, अभिषेक गुप्ता, राजू भगत, अमरेश चंद्र गुप्ता, संपूर्णानंद, बिनोद गुप्ता, कृष्ण आनंद शुक्ला, देवनाथ गुप्ता, बंशीधर, सीताराम सहित स्थानीय प्रशासन सुरक्षा व्यवस्था में लगी हुई है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!