आजम खान और उनके परिवार को रामपुर जेल से शिफ्ट किए जाने पर अदालत में रामपुर जेलर से किया जवाब-तलब

समाजवादी पार्टी के नेता और रामपुर से सांसद मोहम्मद आजम खान को रामपुर की ऐडीजे अदालत में हाजिर होने पर 26 फरवरी को न्यायिक हिरासत में रामपुर जिला जेल भेजने के आदेश दे दिए थे और 2 मार्च की तारीख तय की थी । लेकिन 24 घंटा बीतने से पहले ही रात 4 बजे आजम खान उनकी पत्नी डॉ तज़ीन फातिमा और उनके बेटे अब्दुल्लाह आजम खान को रामपुर जिला जेल से स्थानांतरित करके सीतापुर जिला कारागार भेज दिया गया । जबकि आज भी कुछ मामलों पर उनकी जमानत के लिए सुनवाई होना थी।

आज आजम खान के लिए अदालत में राहत भरा दिन गुजरा । उनको आचार संहिता के उल्लंघन के 8 मामलों में अदालत ने जमानत दे दी । इसके साथ ही उनके वकील खलीलुल्लाह खान ने अदालत मैं यह एप्लीकेशन लगाई थी ज्यूडिशल कस्टडी जिस अदालत द्वारा दी गई है उसके संज्ञान में लाए बिना और बिना उस से अनुमति लिए प्रशासन और सरकार द्वारा उन्हें सीतापुर जेल भेज दिया गया जिसके बारे में बचाव पक्ष ही नहीं कुछ सरकारी वकील को भी कोई जानकारी नहीं दी गई ऐसे में कानून और अदालत पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

आजम खान ने यह भी आशंका जताई कि किसी दूसरे मामले में कैदी को सीतापुर जेल ट्रांसफर किया गया था और बाद में उसकी हत्या हो गई थी ऐसे में आजम खान और उनके परिवार की जान को खतरा है।

बचाव पक्ष के वकील की एप्लीकेशन पर संज्ञान लेते हुए अदालत ने रामपुर जेलर को तलब किया और आजम खान उनकी पत्नी और बेटे को बिना अदालत को सूचित किए या अनुमति लिए रामपुर जेल से सीतापुर जेल भेजे जाने पर जवाब तलब किया है।रामपुर जेल अधिकारी अब इस मुद्दे पर अदालत को कल जवाब पेश करेंगे ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!