हत्या कर दे दिया था आत्महत्या का रूप, पुलिस जांच में खुलासा, पति निकला हत्यारोपी

राजेश गुप्ता (संवाददाता)

पीलीभीत । कोतवाली जहानाबाद क्षेत्र के ग्राम सुस्वार में एक विवाहिता के फांसी द्वारा आत्महत्या किये जाने के मामले में उस वक्त नया मोड़ लिया जब पोस्टमार्टम रिपोर्ट में विवाहिता की मौत फांसी से नहीं बल्कि सिर में चोट लगने से होने की बात सामने आई । पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने फौरी तौर पर अपनी जांच को उसी दिशा में शुरू करते हुए उच्चाधिकारियों के निर्देश पर जहानाबाद पुलिस को अलग धारा में मुकदमा तरमीम करना पड़ा। मुकदमा तरमीम होते ही पुलिस अधीक्षक अभिषेक दीक्षित द्वारा कोतवाली जहानाबाद प्रभारी निरीक्षक मनीराम सिंह को घटना का अनावरण करने के निर्देश दिए गए। इसी क्रम में कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मनीराम सिंह द्वारा इस हत्याकांड की गहनता छानबीन की गई और इस हत्याकांड के प्रकाश में आए दो व्यक्तियों से गहनता से पूछताछ की गई । जिसमें हत्याकांड के मुख्य आरोपी मृतका राखी का पति सरवन कुमार पुत्र मुरारी लाल निवासी ग्राम सुस्वार जिला पीलीभीत तथा दिलीप कुमार उर्फ मुन्ने पुत्र लालाराम निवासी मुहल्ला थाना बारादरी जिला बरेली को लालपुर तिराहे से गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस ने द्वारा बताया कि गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल करते हुए पुलिस को बताया है कि उन्होंने सम्मान के खातिर मृतका राखी को डराने धमकाने के लिए राखी का सिर दीवार में मार दिया था । लेकिन इस घटना में राखी की मृत्यु हो गई । इसलिए बचने के लिए दोनों ने इस घटना को फांसी का रूप दिया था। जबकि गुस्सा व आवेश में आकर घटना घटित हो गई थी । पुलिस ने बताया कि जिस दुपट्टे से मारने के बाद फांसी का रूप दिया गया था पुलिस को बरामद कराया है। क्षेत्राधिकारी सदर प्रवीण मालिक ने बताया कि थाना जहानाबाद में अपराध संख्या 43/20 धारा 306 भारतीय दंड विधान के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत किया गया था, जिसमें पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर मुकदमा में धारा 306 भारतीय दंड विधान से धारा 304 भारतीय दंड विधान में तरमीम किया गया । दोनों आरोपियों ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है ।पुलिस कार्रवाई करते हुए आरोपियों को जेल भेजा जा रहा है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!