क्षय रोग उन्मूलन के लिए गाँवों में की जा रही है टीबी रोगी की खोज

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

राजगढ़ । क्षय रोगी खोजी अभियान के तहत क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम को पूरे जनपद के कुल जनसंख्या का 10% जनसंख्या लक्ष्य करते हुए स्वास्थ्य विभाग की तीन सदस्यी 137 टीमों द्वारा 17 फरवरी 2020 से जनपद के समस्त विकास खंडों में 10 दिवसीय एसीएफ कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इस कार्यक्रम के तहत स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों द्वारा घर घर जाकर लोगों को क्षय रोग के समस्त लक्षणों से परिचित कराते हुए रोगी को ढूंढने का प्रयास किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में क्षयरोग के लक्षण से प्रभावित संदिग्ध मरीजों का तत्काल बलगम जांच कराया जा रहा है। जांचोउपरांत रोगी पाए जाने की स्थिति में विभाग द्वारा मरीज को अधिकतम दो दिनों के अंदर निःशुल्क दवा सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है। अभियान के स्थलीय निरीक्षण के तहत क्षय विभाग के डिस्ट्रिक्ट कोऑर्डिनेटर सतीश शंकर यादव द्वारा आज विकासखंड राजगढ़ क्षेत्र के ग्राम चौखड़ा, भवानीपुर, ददरा आदि गांवों में लगी विभागीय टीमों के कार्यों का निरीक्षण करते हुए टीम सदस्यों को सुझाव दिया गया कि ग्रामवासियों को क्षय रोग के संपूर्ण लक्षणों से परिचित कराने के साथ ही साथ उन्हें सरकार द्वारा पोषण योजना के तहत मरीज को पूरे इलाज तक ₹500 प्रति माह दिए जाने की सुविधा की भी जानकारी अवश्य दें।
सतीश यादव द्वारा इसी क्रम में बताया गया कि 17 फरवरी से चल रहे इस खोजी अभियान के पांच कार्य दिवसों में अब तक पूरे जनपद में 16345 लोगों का स्कैनिंग किया जा चुका है, जिसमें 897 लोगों का बलगम जांच कराया गया। जांचोउपरांत जनपद में 5 दिनों के अंदर 37 टीबी के अज्ञात मरीज विभाग को मिल चुके हैं। उनके द्वारा यह भी बताया गया कि अभी इस कार्य को समाप्त होने में चार दिन शेष बचे हैं, जिससे और मरीजों के मिलने की संभावना अवश्य रहेगी। निरीक्षण के दौरान राजगढ़ क्षेत्र के एसटीएस अजीत कुमार उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!