ओलावृष्टि व बारिश से फसलों को नुकसान, किसानों के माथे पर पसीना

रमेश यादव (संवाददाता)

दुद्धी ।कस्बे एवं आसपास के ग्राम्यांचलों में ओलावृष्टि एवं हुई जमकर बारिश से किसानों को काफी नुकसान पहुंचा है जिससे किसानों के माथे पर पसीना आ गया है ।किसान अपनी खेतों लगी फसल नुकसान होते देख काफी चिंतित हैं ।क्षेत्र में ओले गिरने से खेतों में लगी अरहर ,मटर ,सरसो सहित अन्य फसलें नुकसान हो गई हैं ।जिससे खेतों में खड़ी किसानों की फसलों को काफी नुकसान हुआ। इसके पूर्व एक दो दिन पहले मौसम बदलने के बाद तेज हवा के साथ बारिश हुई। इस बेमौसम बारिश में खास तौर से दलहन-तिलहन और हरी सब्जियों की फसलों को नुकसान हुआ है। कहीं-कहीं सरसों की अगैती फसलों को अधिक क्षति पहुंची है और फसलें जमीन पर गिर गई हैं। आलू किसानों को भी इस बारिश से अधिक नुकसान हुआ है। यदि किसी आलू फसल के खेत में पानी भर गया है तो नुकसान की गुंजाइश अधिक है। पिछले करीब तीन सालों से किसानों की मेहनत पर प्रकृति की मार पड़ने से किसानों को काफी नुकसान झेलना पड़ रहा है। पिछले वर्ष आई बाढ़ ने किसानों का काफी नुकसान किया था। किसानों की मेहनत जब खेतों में पक कर तैयार होती है तौ मौसम की बदली करवट से उन्हें नुकसान पहुंच जाता है।जिससे उसकी मेहनत पर पानी फिर जाता है।
भाकियू जनशक्ति के जिला अध्यक्ष हरिशंकर यादव ने किसानों की फसल नुकसान की भरपाई के लिए जांच कराकर उचित मुआवजा दिए जाने की मांग जिला प्रशासन से की है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!