दूसरे जनपद के परीक्षार्थी को देखकर जिलाधिकारी हैरान

फ़ैयाज़ खान (संवाददाता)

गाजीपुर । जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य एवं पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश सिंह शनिवार को प्रथम पाली अंग्रेजी की परीक्षा का निरीक्षण किया।इस दौरान श्री जानकी इण्टर कालेज रूहीपुर व पं. परमेश्वर उ. मा. वि. मरदानपुर लक्ष्मण मे शांतिपूर्ण परीक्षा संचालित हो रही थी। अधिकारी द्वय ने मौके पर उपस्थित स्टैटिक मजिस्ट्रेट, कक्ष निरीक्षक व परीक्षा मे संलग्न अन्य कार्मिको को परीक्षा को सूचितापूर्ण एवं शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने हेतु निर्देशित किया।

इसी दौरान कई विद्यालय में दूसरे छात्र की जगह दूसरे छात्र परीक्षा देते हुए पकड़े गए। जिसमें बाबा जंगली इण्टर कालेज हंसराजपुर नसीरपुर मे कई छात्र गैर जनपद के नियमित छात्र के रूप मे पंजीकृत होकर परीक्षा देते हुए पाये गये, गंगा दुलारी इण्टर कालेज पहेतियां और पं. मदन मोहन मालवीय इण्टर कालेज सिखड़ी मे भी अन्य जनपद के छात्र परीक्षा देते हुए पाये गये।
इन सभी विद्यालयों पर दूसरे के स्थान पर परीक्षा दे रहे छात्र जनपद मुजफ्फरनगर व विजनौर के है। इसी दौरान रामसनेही दास खटिया बाबा इण्टर कालेज झोटारी, जखनियां मे भी अन्य जनपद के छात्र परीक्षा देते हुए पाये गये। पकड़े गये इन सभी छात्रों के प्रवेश पत्र एवं पहचान पत्र (आधार कार्ड) कब्जे मे लेकर सम्बन्धित थानाध्यक्ष एवं स्टेटिक मजिस्ट्रेट को सुपुर्द करते हुए गहन जांच कर रैकेट के मुखिया व घालमेल के खुलासे की जिम्मेदारी सौंपी।

इन गैर जनपद के छात्रों को जनपद के विद्यालयों मे पंजीकृत करवाने व ठेकेदार के रूप मे परीक्षा दिलाने वाले सरगना के उपर कार्यवाही शुरू करने हेतू जांच के लिए निर्देशित किया गया। बड़ा सवाल यह है कि क्या शासन और प्रशासन शिक्षा माफियाओं को परीक्षा केंद्रों पर नकल कराने से या शिक्षा से खेलवाड़ करने से रोक पा रही है क्या और भी बचीं परीक्षाएं नकल विहीन प्रशासन करा पाएगी। देखते हैं कि आगे होने वाले परीक्षाओं में क्या करामात दिखाते हैं शिक्षा माफिया। वैसे गैर जनपद के परीक्षार्थियों को पास कराने की ठेकेदारी लागभग दो दशकों से लगातार चल रही है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!