प्रियंका गांधी ने आजमगढ़ की अनाबिया को भेजा गिफ्ट व पत्र

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में आज़मगढ़ के बिलरियागंज में प्रदर्शन कर रही महिलाओं पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज के आरोप लगे, वहीं पीड़ित महिलाओं से मिलने 12 फरवरी को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी आईं थीं। उसी दौरान उनकी नजर एक बच्ची अनाबीया पर पड़ी, जो रोते हुए उनके पास गई और उसने उस दिन पार्क में अपनी मां के साथ पुलिसिया बर्बरता की कहानी रो-रोकर बताया। इस पर प्रियंका गांधी भी भावुक हुई और बच्ची को चॉकलेट देकर बात करने के लिए अपना मोबाइल नंबर भी दिया था। वादा किया कि वह उसके परिवार के साथ खड़ी हैं। उस बच्ची को कल बुधवार को प्रियंका गांधी ने गिफ्ट और पत्र भेजा है। गिफ्ट देखने के बाद अनाबिया ने प्रियंका गांधी को धन्यवाद दिया।

देशभर में जहां सीएए और एनआरसी को लेकर विरोध हो रहा वही 5 फरवरी को आजमगढ़ में बिलरियागंज के जोहर पार्क में काफी संख्या में महिलाओं ने विरोध प्रदर्शन शुरू किया। उस प्रदर्शन को खत्म कराने के लिए पुलिस की बातचीत से बात नहीं बनी तो महिलाओं पर लाठीचार्ज और पार्क में पानी फेंकनें के आरोप लगे। महिलाओं से मिलने के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी 12 फरवरी को बिलरियागंज पहुंचकर बातचीत की और उन्हें भरोसा दिलाया कि वह उनके साथ न्याय के लिए लड़ाई लड़ेंगी। उस आंदोलन के दौरान पुलिस बर्बरता से डरी हुई अनाबीया नाम की एक छोटी बच्ची जो 4 दिन से पुलिस के डर से घर से बाहर नहीं निकली थी, उससे मुलाकात के दौरान प्रियंका जी ने कहा था कि जब डर लगे तो मुझको फोन कर लेना। उसी बच्ची के लिए कल बुधवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी कांग्रेस अल्पसंख्यक अध्यक्ष शाहनवाज आलम एवं पार्टी जिलाध्यक्ष आजमगढ़ प्रवीण कुमार सिंह के द्वारा बिलरियागंज उसके घर पहुंचकर उपहार बैग एवं बच्ची के नाम एक पत्र दिया। बैग में चॉकलेट, टेडी बियर, कपड़े रहे। प्रियंका ने पत्र में लिखा कि प्यारी अनाबिया तुम्हारे लिए मैंने कुछ चीजें खरीदी हैं। यह तुम्हें बहुत पसंद आएगी। हमेशा मेरी ब्रेव गर्ल रहना और जब भी दिल करे हमें फोन करना, बहुत प्यार, प्रियंका आंटी।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!