राबर्टसगंज सेंटर जाने से लड़कियों को झेलनी पड़ सकती है परेशानी

रमेश यादव (संवाददाता)

– दूसरी पाली के परीक्षा से सांय 5 बजे राबर्टसगंज से छूटेंगी लड़कियां तो साढ़े आठ / नौ बजे कैसे पहुचेंगी दुद्धी

– राबर्टसगंज से दुद्धी के लिए साढ़े पांच / छः बजे के बाद साधन मिलना होता है मुश्किल

– राबर्टसगंज से हाथीनाला आकर फस जाते हैं अधिकतर परीक्षार्थी

दुद्धी। महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी से सम्बद्ध राजकीय पी जी कॉलेज दुद्धी के स्नातक प्राइवेट परीक्षार्थियों का परीक्षा केंद्र राबर्टसगंज बनाए जाने से आक्रोश व्याप्त है ।सबसे ज्यादा परेशानी बी ए सेकेंड ईयर के लड़कियों के लिए है जिसकी परीक्षा अपराह्न 2 से 5 बजे तक निर्धारित है ।लड़कियां सायं 5 बजे परीक्षा से छूटने के बाद बस स्टैंड या सड़क पर आते – आते साढ़े पांच – छः बज जाएंगे तो ऐसे में दुद्धी के लिए डायरेक्ट साधन मिलना काफी मुश्किल हो सकता है चुकी छः बजे के बाद सिर्फ एक सिंह बस है उसके अलावा न तो कोई ट्रेन है और न ही बस साधन हैं ।हालांकि हाथीनाला तक साधन मिल जाती है लेकिन हाथीनाला आकर अधिकांश परीक्षार्थी फस सकते हैं क्योंकि रात साढ़े सात- आठ बजे के बाद दुद्धी के लिए कोई साधन उपलब्ध नहीं है।ऐसी स्थिति में राबर्टसगंज से परीक्षा देकर घर पहुँचना खास तौर से लड़कियों के काफी मुश्किल भरा हो सकता है और इसको लेकर परीक्षार्थी के साथ -साथ अभिभावक काफी चिंतित हैं । अभिभावकों एवं परीक्षार्थियों का कहना है कि दुद्धी महाविद्यालय का परीक्षा केंद्र जिला मुख्यालय पर लगभग 100 किलोमीटर दूर बनाया जाना आदिवासी बहुल क्षेत्र युवाओ को उच्च शिक्षा से वंचित करने जैसी चाल हैं ।दुद्धी क्षेत्र का परीक्षार्थी काफी मुश्किल से किसी तरह हाई स्कूल और इंटर करने के बाद स्नातक डिग्री की सपना पाले हुए बी ए प्राइवेट से करते है ताकि उनका ग्रेजुएट होने का सपना पूरा हो सके लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन बिना स्थलीय निरीक्षण के ही प्राइवेट छात्र / छात्राओं का परीक्षा केंद्र 100 किलोमीटर दूर बना दिया है जिसे लेकर अभिभावकों एवं परीक्षार्थियों भारी आक्रोश व्याप्त है ।बता दें कि महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ से सम्बद्ध कालेजों में स्नातक स्तर की वार्षिक परीक्षा 20 फरवरी से शुरू हो रही है ।जिसके लिए सोनभद्र के समस्त प्राइवेट परीक्षार्थियों का परीक्षा केंद्र राबर्ट्सगंज बनाया गया है जिसमें छात्राओं के लिए राजकीय महिला महाविद्यालय तथा छात्रों के लिए सन्त कीनाराम स्नातकोत्तर महाविद्यालय को परीक्षा केंद्र बनाया गया है जो दुद्धी से काफी दूर है ।
दुद्धी बार संघ के पूर्व अध्यक्ष कुलभूषण पाण्डेय एवं अखिल भारतीय आदिवासी महासंघ के जिला अध्यक्ष फौजदार सिंह परस्ते एवं भाकियू के जिला अध्यक्ष हरिशंकर यादव सहित अन्य अभिभावकों ने विश्वविद्यालय प्रशासन से मांग की है कि बी ए स्नातक प्राइवेट परीक्षार्थियों का परीक्षा केंद्र दुद्धी को ही बनाया जाय।अन्यथा आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा ।
इस सम्बंध में भाऊ राव देवरस राजकीय पी जी कॉलेज के प्राचार्य डॉ नीलांजन मजुमदार ने बताया कि प्राइवेट परीक्षार्थियों का परीक्षा केंद्र का निर्धारण विश्वविद्यालय प्रशासन करती हैं ।

बता दें कि पिछले महीने छात्र संघ ने कुलपति से मुलाकात कर दुद्धी में ही प्राइवेट सेंटर बनाए जाने की मांग की थी फिर भी सेंटर राबर्टसगंज भेजें जाने से लोगों ने कड़ी नाराजगी जता रहे हैं।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!