सम्पूर्ण समाधान दिवस में आए 209 फरियादी, निपटी 21 शिकायतें

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

– कुल आवेदन पत्र 335, निस्तारित 38, लम्बित मामले 297

सोनभद्र । शासन की मंशा के अनुरूप जिले की तीनों तहसीलों में “सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस” का आयोजन फरवरी महीने के तीसरे मंगलवार को सम्पन्न हुआ। मंगलवार के मुख्य “सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस” में शासन के निर्देशानुसार तहसील दिवसों में सभी विभागों के अधिकारियों द्वारा नेमप्लेट प्रदर्शन के साथ स्टाल लगाए गये, जिसमें मौके पर मामले को निस्तारित करने के साथ ही ग्राम पंचायत स्तरीय व क्षेत्रीय अधिकारियों व कर्मचारियों की अधिकाधिक टीम बनाकर तहसील दिवस के बाद मौके पर जाकर ज्यादा से ज्यादा मामले निस्तारित करने का लक्ष्य था। जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने विभागीय अधिकारियों के लगे स्टालों का जायजा लेते हुए आवश्यक निर्देश दिया और फरियादियों के कतार के बीच जाकर दुःखहारियों के दुःख-दर्द को जाना। जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम व पुलिस अधीक्षक आशिष श्रीवास्तव ने मुख्य “सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस” राबर्ट्सगंज में मौजूद जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे तहसील समाधान दिवसों व कार्यालय दिवसों में प्राप्त मुलाकाती जन शिकायतों का तत्काल गुणवत्ता पूर्ण निस्तारण करना सुनिश्चित करें, जिससे जिले स्तर पर कम से कम जन शिकायतें प्रस्तुत हों। जिलाधिकारी ने सभी कार्यालयाध्यक्षों का दायित्वबोध कराते हुए कहा कि वे संजीदगी के साथ जन समस्याओं का निस्तारण करें। उन्होंने लम्बित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए तीन दिनों के अन्दर लम्बित प्रकरणों को निस्तारित करने के निर्देश सम्बन्धितों को दिया। जिलाधिकारी ने मौके पर मौजूद जिला स्तरीय अधिकारियो को आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि विकास विभाग से जुड़ी शिकायतें जैसे जन कल्याणकारी व विकास परक कार्यक्रमों पर विशेष ध्यान देते हुए समस्याओं के निदान के सम्बन्ध में समय से कार्यवाही करें। जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम, पुलिस अधीक्षक आशिष श्रीवास्तव, उप जिलाधिकारी सदर यमुनाधर चौहान ने इस अवसर पर, कुल 209 शिकायतें सुनते हुए मौके पर ही 15 मामलें निस्तारित हुए। 06 टीमें बनाकर भेजी गयी और टीमों द्वारा भी 6 मामले निस्तारित किया गया। इस प्रकार कुल 21 मामले निस्तारित हुए और बाकी 188 मामले एक सप्ताह के अन्दर निस्तारित करने के निर्देश सम्बन्धितों को दिया।
मुख्य तहसील “तहसील सम्पूर्ण समाधान दिवस” में जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम, पुलिस अधीक्षक आशिष श्रीवास्तव, प्रभागीय वनाधिकारी संजीव कुमार सिंह, उप जिलाधिकारी सदर यमुनाधर चौधरी, डिप्टी कलेक्टर रमेश कुमार, तहसीलदार सुशील कुमार, पुलिस क्षेत्राधिकारी राम प्रताप त्रिपाठी, अभिषेक सिंह, जिला विकास अधिकारी रामबाबू त्रिपाठी, जिला स्तरीय अधिकारीगण, आदि सम्बन्धितगण मौजूद रहे।

दुद्धी तहसील में एडीएम ने सुनी जनता की समस्या –

अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह की अध्यक्षता में “तहसील सम्पूर्ण समाधान दिवस” दुद्धी में जनता के दुःख-दर्द को सुना। अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह , उप जिलाधिकारी दुद्धी सुशील कुमार यादव ने तहसील स्तरीय अधिकारियों का दायित्वबोध कराते हुए प्राप्त समस्याओं को मौके पर निस्तारित करने के निर्देश दिये। उन्होंने मौके पर 53 मामलों को सुनते हुए मौके पर 03 मामलों को निस्तारित किया। इसके बाद उन्होंने 06 टीमें बनाकर क्षेत्र में जाकर जमीनी हकीकत के मुताबिक निस्तारण के लिए अधिकारियों व कर्मचारियों के टीमों को भेजा। भेजी गयी टीमों द्वारा 06 मामलों का निस्तारण मौके पर जाकर किया गया, इस प्रकार “तहसील समाधान दिवस” के दिन दुद्धी तहसील प्रषासन द्वारा कुल 09 मामले निस्तारित किये गये। बाकी बचे 44 मामलों को औपचारिकताओं को पूरा करते हुए समयबद्ध तरीके से निस्तारित करने के निर्देश दिये गये।

घोरावल में उपजिलाधिकारी ने सुना जनता का दुःख दर्द –

घोरावल सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस मेंं उप जिलाधिकारी घोरावल प्रकाश चन्द्र की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ। उप जिलाधिकारी घोरावल ने 73 फरियादियों के दुःख-दर्द को सुना और मौके पर 05 मामले निस्तारित किये। उन्होंने 03 टीमें बनाकर क्षेत्रों में निस्तारण के लिए भेजी गयी और भेजी गयी टीमों द्वारा 03 प्रकरण निस्तारित किये गये। इस प्रकार तहसील समाधान दिवस के दिन घोरावल मेंं कुल 08 प्रकरण निस्तारित किये गये, बाकी बचे 65 प्रकरणों को समयबद्ध तरीके से निस्तारित करने के निर्देश सम्बन्धितों को दिये। तहसील दिवस घोरावल में उप जिलाधिकारी घोरावल के अलावा तहसीलदार घोरावल आदि मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!