प्रशांत किशोर ने बिहार के मुख्यमंत्री पर साधा निशाना, कहा- नीतीश कुमार से दो बातों पर खास मतभेद रहा

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा है। बीते 29 जनवरी को जेडीयू से निष्कासित किए जाने के बाद प्रशांत किशोर मंगलवार को पहली बार पटना पहुंचे और मीडिया से बात की । प्रेस कॉन्फ्रेंस में पीके ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार के साथ अब मेरा नाता राजनीतिक संबंधों का नहीं रहा । पीके ने कहा कि उन्होंने मुझे बेटे की तरह रखा। सीएम नीतीश कुमार ने मुझे निकाला है तो मैं उनके सारे फैसले को हृदय से स्वीकार करता हूं । वो मुझे पार्टी में रखना चाहते हैं अथवा नहीं, ये उनका विशेषाधिकार था और उन्होंने लिया । मैं उनका सम्मान करता हूं।

प्रशांत किशोर ने कहा कि उनका नीतीश कुमार से दो बातों पर खास मतभेद रहा है । सीएम नीतीश, गांधी, लोहिया और जेपी (जय प्रकाश) की बातों को मानने की बातें करते रहे हैं । जब वो ऐसी बातें करते हैं तो वो गोडसे की विचारधारा के साथ कैसे खड़े हैं । दोनों बात नहीं होनी चाहिए इस बात को लेकर मेरे और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार में विचार-विमर्श होते रहे हैं ।

दूसरा मतभेद जेडीयू और बीजेपी के साथ संबंधों की पोजिशनिंग को लेकर रही है । पहले भी साथ रहे हैं बीजेपी के साथ, लेकिन आज की स्थिति में पहले से बेहद अंतर है । प्रशांत किशोर को कोई दूसरी पार्टी का नेता कैसे डिप्यूट कर सकता है । बिहार का नेता नीतीश कुमार कोई मैनेजर नहीं है। उन्होंने सवाल उठाया कि आखिर कोई दूसरी पार्टी का नेता सीएम नीतीश कुमार के लिए कैसे ये बात कह सकता है कि वे सीएम नीतीश के नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेंगे ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
Back to top button