बोर्ड परीक्षार्थियों के लिए यू पी पुलिस की पहल – यदि शोरगुल से हैं परेशान तो डायल करें 112

जनपद न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ । उत्तर प्रदेश पुलिस ने बोर्ड परीक्षाओं को देखते हुए परीक्षार्थियों की मदद के लिए अनोखी पहल की है।बोर्ड परीक्षा की तैयारी के दौरान शोरगुल या किसी भी तरह की व्यवधान उत्पन्न करने व पढ़ाई बाधित होने पर छात्र 112 डायल कर सकते हैं। पुलिस मौके पर पहुंचकर उन्हें शोरगुल से निजात दिलाएगी। यह सुविधा 15 फरवरी से 31 मार्च तक मुहैया कराई जाएगी।
डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी के निर्देश पर बोर्ड परीक्षा के दौरान ध्वनि प्रदूषण के खिलाफ यह अभियान शुरू किया जा रहा है। बच्चों को पढ़ाई के लिए बेहतर माहौल देने के उद्देश्य से यह पहल की गई है। ध्वनि प्रदूषण के खिलाफ यह अभियान पूरे प्रदेश में एक साथ चलेगा। एडीजी यूपी 112 असीम अरुण ने बताया कि बच्चों की बोर्ड परीक्षा शुरू होने वाली है। पूर्व के वर्षों में पाया गया कि फरवरी से मार्च तक होने वाली परीक्षा के दौरान आपात सेवा 112 (पूर्व में 100) पर ध्वनि प्रदूषण की शिकायतें भी बढ़ जाती हैं। यदि किसी विद्यार्थी को पढ़ाई के दौरान तेज आवाज से दिक्कत हो रही है तो वह 112 पर कॉल करके अथवा सोशल मीडिया के अन्य माध्यमों से पुलिस की सहायता ले सकता है। यह कॉल आते ही शिकायत दर्ज कर पुलिस रिस्पांस वेहिकल (पीआरवी) को तत्काल मौके पर भेजा जाएगा।

ये है ध्वनि मानक

उन्होंने बताया कि शैक्षिक संस्थाओं के आसपास कम से कम 100 मीटर क्षेत्र को शांत क्षेत्र घोषित किया गया है। अलग-अलग क्षेत्रों के लिए ध्वनि का मानक भी निर्धारित किया गया है। औद्योगिक क्षेत्र में दिन के समय 75 व रात के समय 70, वाणिज्य क्षेत्र में दिन के समय 65 व रात के समय 55, आवासीय क्षेत्र में दिन के समय 55 व रात के समय 45 तथा शांत परिक्षेत्र में दिन के समय 50 व रात के समय 40 डेसिबल निर्धारित है। दिन का समय सुबह 6 बजे से रात्रि 10 बजे तक का है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!