मातृ पितृ पूजन कर मनाया गया सच्चा प्रेम दिवस

रमेश यादव (संवाददाता)

दुद्धी। शनिवार को झारोखुर्द में श्री योग वेदांत सेवा समिति के तत्वावधान में आशाराम बापूजी द्वारा प्रेरित अनोखा प्रेम दिवस मनाया गया। मातृ पितृ भक्त श्रवण कुमार, पुण्डलिक की कथा सुनाई गई। यहां पर बच्चों ने माता पिता को आसान पर बिठाकर फूल मालाएं पहनायी, तिलक किया और हाथों में पूजा की थाली लेकर पूजा-अर्चना की। फिर माता पिता ने बच्चों को हृदय से लगा लिया और शुभ आशीष दी। भारतीय परंपरा की इस झलक को देखकर माता पिता सहित बच्चो की आंखे गीली हो गयी।

उल्लेखनीय है कि सन्त आशाराम बापू जी की प्रेरणा से 14 फरवरी मातृ पितृ पूजन दिवस मनाने की शुरुआत 14 वर्ष पहले हुई थी।
आशाराम बापू कहते हैं कि वैलेंटाइन डे-यह पाश्चातय परम्परा हमारे देश मे अपना पैर जमा रही है जिससे युवाओं का पतन हो रहा है तो हमने माता पिता की सेवा पूजा करके सच्चा प्रेम दिवस मनाने की शुरुआत की । माता पिता का आशीर्वाद मिलेगा तो उन्हें हर क्षेत्र में सफलता मिलेगी।
लोगो को यह कार्यक्रम इतना पसंद आया कि आज भारत ही नहीं ,विदेशों में भी आशाराम बापू जी का यह कार्यक्रम मनाया जाने लगा। इस कार्यक्रम का हिन्दू मुसलमान, सिक्ख ,ईसाई, पारसी-सभी धर्मों के लोगो ने हृदयपूर्वक स्वागत किया। समाज के सभी तबको द्वारा इस दैवी कार्य के स्वागत का एक कारण यह भी है कि धर्म-जाती की परिधि से ऊपर उठकर इसमे सबके मंगल की भावना निहित है।
इस दौरान ग्राम प्रधान धर्मेन्द्र पाल, सुग्रीव, लालकेश्वर, गयाराम, विजय कुमार, सूबे सिंह ,सुनीलकुमार आदि अभिभवक मौजूद रहे। सभी ने उक्त आयोजन को खूब सराहा और भविष्य में ऐसे और भी आयोजन होते रहे,ऐसी इच्छा जाहिर की। बच्चों ने भी 14 फरवरी को हर वर्ष वैलेंटाइन डे के बजाय आशाराम बापू द्वारा प्रेरित मातृ पितृ पूजन दिवस मनाने का तथा सन्तो के सेवा कार्यों का अनुकरण करके भारत को विश्वगुरु बनाने का संकल्प लिया।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!