जनसेवा केन्द्र के माध्यम से सभी पात्र व्यापारी व श्रमिक करायें अपना पंजीकरण- श्रम प्रर्वतन अधिकारी

दीनदयाल शास्त्री (ब्यूरो)

पीलीभीत । प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना एवं नेशनल पेंशन योजना के क्रियान्वयन हेतु 1 फरवरी से 29 फरवरी 2020 तक पेंशन माह मनाये जाने के निर्देश दिये गये है। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय की अधिसूचना दिनांक 7 फरवरी 2019 द्वारा असंगठित कर्मकारों के लिये प्रधानमंत्री श्रम योगी मान धन योजन अधिसूचित की गयी है जो 15 फरवरी 2019 से प्रारम्भ हो गयी है।
वही इस योजना में जनसेवा केन्द्र के माध्यम से असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का पंजीकरण किया जाता है। श्रमिक के पंजीयन की निर्धारित आयु 18 से 40 वर्ष तक है। लाभार्थी श्रमिक के अंशदान की मासिक धनराशि 55/- से रुपये 200/- तक है। अंशदान की जितनी धनराशि लाभार्थी श्रमिक द्वारा जमा की जाती है उतनी ही धनराशि भारत सरकार द्वारा जमा की जाती है। श्रमिक के 60 वर्ष पूर्ण होने के उपरान्त प्रतिमाह रुपये 3000/- की धनराशि पेंशन के रूप में लाभार्थी श्रमिक को दी जायेगी।
श्रम एवं रोजगार मंत्रालय की अधिसूचना 22 जुलाई 2019 के द्वारा भारत सरकार द्वारा असंगठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा अधिनियम 2008 की धारा 3(1) के अन्तर्गत लघु एवं खुदरा व्यापारियों के लिये प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मान-धन योजना के अन्तर्गत पेंशन योजना 22 जुलाई 2019 से लागू की गयी है। इस योजना में जनसेवा केन्द्र के माध्यम से वह व्यापारी जिसकी आयु 18 से 40 वर्ष के मध्य है तथा जिनका वार्षिक टर्न ओवर रुपये 1.5 करोड़ तक है का पंजीकरण किया जायेगा। लाभार्थी व्यापारियों के मासिक अंशदान की धनराशि रुपये 55/-से रुपये 200/- तक है। अंशदान की जितनी धनराशि लाभार्थी व्यापारी द्वारा जमा की जाती है उतनी ही धनराशि भारत सरकार द्वारा जमा की जाती है। व्यापारी की आयु 60 वर्ष पूर्ण होने के उपरानत पेंशन के रूप में रुपये 3000/- प्रतिमाह की धनराशि लाभार्थी व्यापारी को दी जायेगी। अतत् जनपद पीलीभीत के सभी पात्र व्यापारियों/श्रमिकों से अनुरोध है कि वह सी0एस0सी0 के माध्यम से अपना पंजीयन अवश्य करायें। अधिक जानकारी के लिए श्रम प्रर्वतन कार्यालय से सम्पर्क किया जा सकता है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!