टिड्डी दल के नियंत्रण हेतु किसानों को सलाह

दीनदयाल शास्त्री ब्यूरो

पीलीभीत । किसान भाईयों सूचित किया जाता है कि राजस्थान, पंजाब एवं हरियाणा के विभिन्न क्षेत्रों में टिड्डा के प्रकोप को दृष्टिगत रखते हुये जनपद में इस कीट नियंत्रण के सम्बन्ध में निर्देश दिये गये हैं। यह गण आथ्र्रोपटेरा के एक्रीडीडी वंश का कीट है। यह कीट भारत, पाकिस्तान तथा मध्य एशिया के कई देशों में रेगिस्तानी भूमि में अंडे देते है तथा भोजन तथा अनुकूल मौसम की तलाश में दो हजार मील तक उड़ान भर सकते है। मादा टिड्डी मिट्टी में कोष्ठ बना कर रहती है, प्रत्येक कोष्ठ में 20 से 100 अंडे होते है। गर्भ जलवायु में 10 से 15 दिन में इन अंडो से शिशु कीट निकाल आते है, जो 5-6 सप्ताह में वयस्क हो जाते है और प्रजनन करने योग्य हो जाते है। इनका निवास हल्की नम तथा भुरभुरी मिटटी, नदी किनारे बालू, घास के मैदानों में होता है। वयस्क टिड्डिया गरम दिनों झुण्ड में उड़ती है तथा मानसूनी वर्षा के समय भारत में इनका प्रजनन होता है। हाल ही में हुई छिटपुट बर्षा के कारण यह मौसम टिड्डियो के अनुकूल है।
फसल में इनका उपद्रव आरम्भ होने के उपरान्त इन्हें नियंत्रित करना कठिन हो जाता है, अतः यह आवश्यक है कि निरन्तर टिड्डी दल में आक्रमण की निगरानी की जाय। ताकि किसी भी स्तर के प्रकोप की दशा में ससमय टिड्डी दल पर नियंत्रण पाया जा सके। टिड्डी दल के प्रकोप की दशा में आप टिड्डी दल के प्रकोप की सूचना ग्राम प्रधान, लेखपाल, कृषि विभाग के प्राविधिक सहायकों एवं ग्राम पंचायत अधिकारी के माध्यम से कृषि विभाग तक तत्काल पहुंचाये। टिड्डी के प्रकोप की दशा में एक साथ इकटठा होकर टीन के डब्बों, थालियों आदि को बजाते हुए शोर मचायें। शोर से टिड्डी दल आसपास के खेतों में आक्रमण नहीं कर पायेगें। चूंकि बसन्त का मौसम एवं बलुई मिट्टी टिड्डे के प्रजनन एवं अण्डे देने हेतु सर्वाधिक अनुकूल होता है। अतः टिड्डी दल के आक्रमण से सम्मानित ऐसी मिट्टी वाले क्षेत्रों में जुलाई करवा दें एवंज ल का भराव दें। शाम के समय फसल के चारो ओर मशाल जलाये। मिट्टी दल के न्यून मध्यम प्रकोप की दशा में कृषक भाई एक साथ मिलकर 1.5ली0 क्युनालफाॅस 25प्रतिशत ईसी अथवा क्लोपाइरीफाॅस 20 प्रतिशत ईसी अथवा 100ग्राम थायोथाक्सम 25 प्रतिशत डब्लूजी आदि का छिडकाव करें। अधिक जानकारी के लिए जिला कृषि रक्षा अधिकारी, पीलीभीत से सम्पर्क करें।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!