पुलिस अधीक्षक द्वारा किया गया स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तीन दिवसीय प्रशिक्षण सत्र का समापन

दीनदयाल शास्त्री ब्यूरो

पीलीभीत। जिला ग्राम्य विकास संस्थान, द्वारा स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अन्तर्गत ‘‘सुजल एवं स्वच्छ गांव’’ विषयक तीन दिवसीय प्रशिक्षण सत्र दिनांक 10 फरवरी 2020 से 12 फरवरी 2020 का समापन अभिषेक दीक्षित पुलिस अधीक्षक द्वारा किया गया। समापन सम्बोधन में पुलिस अधीक्षक ने सुजल एवं स्वच्छता की महत्ता पर प्रकाश डालते हुये कहा कि स्वच्छता एवं स्वच्छ जल हमारे जीवन का अभिन्न अंग है। सुजल एवं स्वच्छ वातावरण के न होने पर अनेकों प्रकार की बीमारियां होती है और उनके उपचार पर हमारा काफी धन व्यय होता है, यदि हम स्वच्छ वातावरण में रहेंगे और स्वच्छ जल का सेवन करेंगे तो बीमारियों पर व्यय होने वाले धन में से काफी धन की बचत हो सकती है और उसका उपयोग हम और आवश्यक कार्यों पर कर सकते है। अतः आवश्यकता इस बात की है कि ग्राम प्रधान एवं सचिव को प्रत्येक ग्राम पंचायत में समय समय पर बैठक कर स्वच्छता स्वच्छता एवं सुजल सम्बन्धी कार्यों पर चर्चा करनी चाहिये और इस बात का भरकस प्रयास करना चाहिये कि प्रत्येक ग्राम स्वच्छ रहे और प्रत्येक ग्रामवासी को स्वच्छ जल मिल सके। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक द्वारा प्रशिक्षण में भाग लेने वाले ग्राम प्रधानों, ग्राम सचिवों और खण्ड प्रेरकों को प्रशिक्षण प्रमाण पत्र भी वितरित किये गये। कार्यक्रम के समापन के अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी द्वारा पुलिस अधीक्षक को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी पीलीभीत द्वारा सुजल एवं स्वच्छ गांव के लिए समुदाय चालित कृति नियोजन प्रक्रिया के बारे में तथा विवेक गंगवार, मास्टर ट्रेनर/कन्स्लटेंट, बर्ल्ड बैंक, लखनऊ द्वारा ठोस और द्रव अपशिष्ट प्रबंधन की वर्तमान स्थिति और संचालन योजना और अपशिष्ट जल प्रबंधन के बारे में प्रतिभागियों को विस्तारपूर्वक बताया। इस अवसर पर योगेन्द्र पाठक, जिला विकास अधिकारी, जे0सी0 जोशी, खण्ड विकास अधिकारी, बीसलपुर, कंचन कुमार ज्येष्ठ अनुदेशक, जिला समन्वयक स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण सहित अन्य उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!