राहुल गांधी का बड़ा आरोप, बीजेपी और आरएसएस को बताया आरक्षण विरोधी, कहा- इनके डीएनए में शामिल

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि आरक्षण को खत्म करना भाजपा और आरएसएस के डीएनए में है। वंचित वर्गों के अधिकारों को छीनने के लिए बड़ी साजिश रची जा रही है। भाजपा आरक्षण को संविधान से हटाना चाहती है। वे चाहते हैं कि एससी/एसटी कैटेगरी कभी आगे न बढ़े।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने लोकसभा में कहा कि हम आरक्षण को खत्म नहीं होने देंगे। मोदीजी या मोहन भागवत चाहे जितने सपने देख लें, उनके इस सपने को कभी पूरा नहीं होने देंगे।

‘आरक्षण के संवैधानिक अधिकार के खिलाफ भाजपा बयान दे रही’

राहुल गांधी ने ट्वीट किया- भाजपा सरकार आरक्षण के संवैधानिक अधिकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में बयान दे रही है। इन अधिकारों को संघर्षों और बलिदानों से हासिल किया गया है, ताकि भारत एक बेहतर राष्ट्र बन सके। आज एक वंचित वर्गों के अधिकारों को छीनने की बड़ी साजिश चल रही है। इससे बड़ा राजद्रोह और क्या हो सकता है?

राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि आरएसएस और भाजपा इस विचार के साथ कभी खड़ी नहीं हो सकती है कि दलितों, आदिवासियों और ओबीसी को आरक्षण मिले। वे हर दिन जब सुबह जागते हैं तो उन्हें यह आरक्षण परेशान करता है। सिवाय इसके कि यह हमारे संविधान में है और इन अधिकारों की गारंटी हमारे संविधान द्वारा दी गई है। उन्होंने कई तरीकों से आरक्षण को हटाने का प्रयास किया है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!