परिवर्तन रैली मिर्जापुर पहुंचकर किया मां विंध्यवासिनी के धाम में हवन

राजीव दुबे (संवाददाता)

विंध्याचल । मां विंध्यवासिनी के धाम में परिवर्तन रैली के पदाधिकारीगण पहुंचकर मां विंध्यवासिनी के श्री चरणों में प्रार्थना कर हवन कुंड हवन कर दी आहुति। इस दौरान परिवर्तन रैली के सदस्यगण द्वारा प्रेस वार्ता कर बताया कि शिक्षकों के सम्मान अधिकार और सम्मानजनक जीवन यापन की प्राप्ति अपने संघर्ष और बलिदान से अर्जित है, परंतु वर्तमान में शिक्षकों के सम्मान और गरिमा को सबसे बड़ा आंतरिक खतरा गुटों में विभाजित उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा संघ सम्मान अधिकार और सम्मानजनक जीवन यापन की प्राप्ति अपने संघर्ष और बलिदान से अर्जित है। परंतु वर्तमान में शिक्षकों के सम्मान और गरिमा को सबसे बड़ा आंतरिक खतरा गुटों में विभाजित उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा संघ के स्वयंभू शिक्षक नेताओं की बूटी प्रतिद्वंद्विता और निजी महत्वाकांक्षा से है शिक्षक संघों के मंच पर केवल और केवल स्तुति गान से एक शिक्षक नेता को महिमामंडित करने की होड़ लगी रहती है। शिक्षक संघ में घनिष्ट और संघर्षशील कार्यकर्ताओं के स्थान पर केवल चापलूसी करने वाले चहते सेवानिवृत्त शिक्षक प्रबंधक और धन अर्जित करने वालो की प्रमुखता हो गई है। जिसके कारण शिक्षक संघ कमजोर होता जा रहा है। शिक्षक नेताओं द्वारा सरकारों से सांठगांठ कर निजी स्वार्थों की पूर्ति के परिणाम स्वरूप वर्तमान में विधान परिषद की शिक्षक सीटों पर भी राजनीतिक दलों ने अपने प्रत्याशी उतार दिए हैं। यह शिक्षक समाज के लिए गंभीर खतरा उत्पन्न हो गया है।
इसी को देखते हुए शैक्षणिक वातावरण में सुधार एवं शिक्षकों की हितों की रक्षा के लिए निम्न बिंदुओं पर सतत प्रयास कर निम्न उद्देश्यों को लेकर आगे कार्य करने जा रही हैं –
1-पुरानी पेंशन योजना बहाल की जाए अन्यथा की स्थिति में एन पी एस को सामान्य भविष्य निधि की भाति सुव्यवस्थित कराया जाएगा।
2-वित्तविहीन विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों को समान कार्य के लिए समान वेतन, सेवा सुरक्षा एवं सम्मानजनक मानदेय दिलवाया जाएगा।
3-संस्कृत विद्यालयों में स्वीकृत पदों के प्रति शिक्षकों की नियुक्ति कराकर संस्कृत शिक्षक और सुरक्षित कराया जाएगा।
4-मदरसा शिक्षकों की सेवा शर्तो को सुरक्षित कराना तथा मानदेय का नियमित भुगतान कराया जाएगा।
5-सभी प्रकार के शिक्षकों को निशुल्क चिकित्सा सुविधा की व्यवस्था करवाई जाएगी।
6-निजी प्रबंधन तंत्र द्वारा संचालित आई.टी.आई. पॉलिटेक्निक विदेशी संस्थानों में कार्यरत शिक्षकों को सम्मानजनक मानदेय दिलवाया जाएगा।
7-तदर्थ प्रधानाचार्य शिक्षकों का अध्ययन विनियमितीकरण करवाया जाएगा।
8-महिला विद्यालयों में महिला अध्यापिका ओं के छोटे शिशु के लालन पालन हेतु नर्सरी की स्थापना करवाई जाएगी।
इसी प्रकार से शिक्षकों और शिक्षा की गुणवत्ता के स्तर को उठाने के लिए 20 सूत्रीय उद्देश्यों को लेकर रजनी द्विवेदी ने मां के चरणों में हाजिरी लगा कर मन्नते मांगी।
इस दौरान प्रगतिशील शिक्षक एसोशिएशन के अध्यक्ष नित्यानंद शर्मा, उपाध्यक्ष डॉ0 प्रेम कुमार शर्मा, हरि शंकर शर्मा, हरि शंकर शास्त्री, एस0के0तिवारी व रजनी द्विवेदी आदि लोग उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!