चीन से लौटे मेडिकल छात्रों पर सार्वजनिक जगह जाने पर लगी पाबंदी।

फ़ैयाज़ खान (संवाददाता)

ग़ाज़ीपुर । गाजीपुर चीन में मेडिकल की पढ़ाई करने गए छात्र समेत चार लोगों पर भीड़-भाड़ वाले इलाकों में जाने से पाबंदी चिकित्‍सकों द्वारा लगा दी गई है। मेडिकल जांच में कोरोना वायरस के कोई लक्षण नहीं मिलने के बाद भी एहतियात के तौर पर चारों को मेडिकल निगरानी में रखा गया है। डाक्टरों की टीम सुबह-शाम उनके घर नियमित रूप से पहुंच कर स्वास्थ्य परीक्षण कर रही है। चारों चीन से कोलकाता आए और वहां से मरदह व जमानियां ब्लाक क्षेत्र में स्थित अपने गांव पहुंचे।
विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से सीएमओ कार्यालय को इनपुट मिला कि चीन में मेडिकल की पढ़ाई करने वाला एक छात्र मरदह ब्लाक स्थित अपने गांव पहुंचा है। इसकी जानकारी मिलते ही उच्चाधिकारियों ने तत्काल वहां के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात चिकित्साधिकारी को उसके घर पहुंचकर स्वास्थ्य परीक्षण का निर्देश दिया गया। पीएचसी की टीम द्वारा छात्र का परीक्षण करने के साथ रिपोर्ट विभाग को भेजी गई, जिसमें कोरोना वायरस के लक्षण नहीं मिले। इसके कुछ दिन बाद ही जमानियां ब्लाक स्थित एक गांव निवासी परिवार के माता-पिता व पुत्र के आने की जानकारी दी। इस पर जमानियां पीएचसी के चिकित्साधिकारी तीनों का स्वास्थ्य परीक्षण किए। इसके अलावा भांवरकोल ब्लाक के एक गांव में एक व्यक्ति के आने की जानकारी मिली, लेकिन उनके परिजनों से पूछताछ करने पर पता चला कि वह गांव नहीं आए हैं, जिसके बाद वहां टीम लगातार परिवार के सदस्यों के संपर्क में बनी हुई है। इन सभी में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं मिले हैं, बावजूद एहतियात के तौर पर स्वास्थ्य परीक्षण करने के साथ भीड़-भाड़ वाले इलाकों में जाने से पूर्णत: मना किया गया है ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!