गंगा यात्रा के दौरान बने VIP घाट, अब बदहाल

फ़ैयाज़ खान (संवाददाता)

ग़ाज़ीपुर । गाजीपुर जीवनदायिनी गंगा को स्वच्छ और अविरल बनाने के लिए कुछ दिन पहले निकाली गई गंगा यात्रा का जनपदवासियों और प्रशासन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा। जबकि जनपद से होकर गुजरने वाली गंगा यात्रा के लिए गंगा की साफ-सफाई, पक्के और कच्चे मार्गों का चौड़ीकरण, गंगा घाटों की रंगाई-पुताई आदि कार्य युद्धस्तर किए गए थे। यात्रा को सफल बनाने में पूरा जनपद लगा हुआ था। पतित पावनी गंगा को स्वच्छ रखने का संकल्प लेेने वाले यात्रा के दिन से फिर कभी गंगा तट पर नहीं दिखाई दिए। जिले के पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी उस दिन के बाद से खामोश हैं।
फिर से गंगा घाटों को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है। इन दिनों घाटों के आसपास गंदगी का अंबार लगा हुआ है। इससे स्नानार्थियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बलिया से चलकर बीते 28 जनवरी को गंगा यात्रा जनपद पहुंची थी। तब यात्रा को लेकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के दिल की धड़कनें बढ़ गई थीं। नगर के कलेक्टर घाट पर देर शाम गंगा आरती का कार्यक्रम निर्धारित था। यात्रा के पहुंचने से पहले ही नगरपालिका द्वारा युद्धस्तर घाट की साफ-सफाई और सीढ़ियों की सजावट की गई थी। यहां तक की नदी तट पर स्थित मंदिरों की रंगाई-पुताई के साथ ही साफ-सफाई भी हुई थी।
तब दूर-दूर तक गंदगी नजर नहीं आ रही थी। नगर के सभी प्रमुख घाटों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों के गंगा घाटों की भी साफ-सफाई कराई गई थी। यात्रा के जाने के बाद फिर से घाट भगवान भरोसे हो गए। वर्तमान समय में नगर के ददरीघाट, कलेक्टर घाट, चीतनाथ घाट सहित अन्य गंगा घाटों पर गंदगी फैली हुई है। इससे स्नानार्थियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कुछ इसी तरह की हालत ग्रामीण क्षेत्रों के गंगा घाटों की हो गई है। चारों तरफ कूड़ा-कचरा फैला रहने से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि जिस समय जिले में गंगा यात्रा आनी थी, उस समय अधिकारियों को गंगा घाटों की याद आई थी।
उन्होंने आनन-फानन में घाटों की साफ-सफाई का कार्य प्रारंभ कराकर घाटों को साफ-सुथरा करा दिया था, लेकिन यात्रा को जाने के बाद संबंधित लोग घाटों की स्वच्छता को लेकर टेंशन फ्री हो और घाटों की हालत फिर से पहले जैसी हो गई। चारों तरफ फैले कूड़ा-कचरा की साफ-सफाई नहीं कराई जा रही है, जो यहां आने वालों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!