यूपी बोर्ड परीक्षा को लेकर जिलाधिकारी ने जारी हुआ दिशा निर्देश

अबुलकैश डब्बल ब्यूरो
* शासन के मंशा अनुरूप नकलविहीन एवं शांतिपूर्ण तरीके से कराने आदेश।
* 18 फरवरी से 6 मार्च तक चलेगी परीक्षा

चंदौली। माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश प्रयागराज द्वारा संचालित बोर्ड परीक्षा वर्ष 2020 तैयारी से संबंधित बैठक महेंद्र टेक्निकल इंटर कॉलेज के सभागार में संपन्न हुआ। यूपी बोर्ड वर्ष 2020 की हाईस्कूल/इंटरमीडिएट की परीक्षाएं दिनांक 18 फरवरी 2020 से प्रारंभ होकर दिनांक 06 मार्च 2020 को समाप्त होगी।
जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट व जोनल मजिस्ट्रेट को निर्देशित करते हुए कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप नकलविहीन एवं शांतिपूर्ण परीक्षा संपादित कराएं। कहा कि जनपद में बोर्ड परीक्षा वर्ष 2020 हेतु जनपद में 95 परीक्षा केंद्र को चयनित किया गया है। जिसमें चार राजकीय माध्यमिक विद्यालय, 32 अशासकीय सहायता प्राप्त, 59 वित्तविहीन माध्यमिक विद्यालय शामिल हैं। इसी क्रम में जनपद में हाईस्कूल परीक्षा में बैठने वाले बालक 19943 एवं बालिका 18310 सम्मिलित हैं। इसी प्रकार इंटरमीडिएट परीक्षा में बैठने वाले बालक 17596 एवं बालिका 14398 है। जिलाधिकारी ने बताया कि हाईस्कूल/इंटरमीडिएट संस्थागत/व्यक्तिगत बालक/ बालिका का संपूर्ण योग जो परीक्षा में सम्मिलित हो रहे हैं 70247 हैं। श्री चहल ने बताया कि उक्त परीक्षा के नकल की प्रवृत्ति संभावनाओं पर अंकुश लगाने परीक्षा की शुचिता, पवित्रता, गुणवत्ता, विश्वसनीयता को बनाए रखने की दृष्टि से जनपद को पांच जोनल मजिस्ट्रेट, 19 सेक्टर मजिस्ट्रेट, दस स्टैटिक मजिस्ट्रेट एवं पांच सचल दल लगाए गए हैं। बोर्ड परीक्षा प्रारंभ होने से 30 मिनट पूर्व प्रश्न पत्रों के लिफाफे पर अंकित संकेतांक विषय का समय-सारणी के अनुसार मिलान करने के पश्चात ही सीसीटीवी के सामने साक्षीगणों के साथ व विभाग से नियुक्त पर्यवेक्षक के सम्मुख ही निर्धारित समय पर प्रश्न पत्रों के लिफाफे को काटे किसी भी दशा में दूसरे विषय का प्रश्न पत्रों के गलत लिफाफे काटे जाने पर संपूर्ण जिम्मेदारी केंद्र व्यवस्थापक/ पर्यवेक्षक की होगी। प्रश्न पत्रों को खोलते समय किसी भी शिक्षक/कर्मचारी के पास मोबाइल व कैमरा न हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए।
श्री चहल ने बताया कि परीक्षा प्रारंभ होने से पूर्व मुख्य द्वार पर सघन चेकिंग की जाएगी जिसमें बालकों की चेकिंग पुरुष अध्यापक द्वारा एवं बालिकाओं की चेकिंग महिला अध्यापकों द्वारा की जाएगी। बालिकाओं की चेकिंग हेतु अपने स्तर से अस्थाई चेकिंग कक्ष, मुख्य द्वार के समीप ही तैयार कर लिया जाए। साथ ही समस्त केंद्र व्यवस्थापक विद्यालय स्तर पर आंतरिक सचल दस्ते का गठन कर ले सचल दस्ते के सदस्यों से कक्ष निरीक्षक का कार्य नहीं लिया जाएगा। इसके साथ परीक्षा भवन में किसी भी परीक्षार्थी के पास मोबाइल फोन, इलेक्ट्रॉनिक यंत्र नहीं होनी चाहिए परीक्षार्थियों की तलाशी के समय अस्थाई रूप से अध्यापक/अध्यापिकाओं की ड्यूटी रहे, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही मिली तो संबंधित केंद्र व्यवस्थापक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। समस्त केंद्र व्यवस्थापक को निर्देशित करते हुए कहा प्रश्नपत्रों को लोहे की मजबूत अलमारी डबल लॉक में रखे जाएंगे। जिस कक्ष में प्रश्न पत्र रखी जाएगी वहां पर 24 घंटे सीसीटीवी कैमरे चालू रहेंगे तथा उसकी रिकॉर्डिंग रखी जाएगी जहां प्रश्न पत्र व उत्तर पुस्तिका रखी जाएगी वहां पर किसी प्रकार का ज्वलनशील पदार्थ न रखा जाए। खिड़की व रोशनदान पूरी तरह से पैक कर दिए जाएं एवं प्रत्येक दिन उसको बंद करने के बाद सिल कर दिए जाएं। परीक्षा के दिन जनपद में धारा 144 लागू रहेगी, इसके साथ परीक्षा केंद्र से 200 मीटर की परिधि में किसी भी फोटोस्टेट मशीन की दुकान नहीं खुलेंगे यदि किसी के द्वारा उल्लंघन किया गया तो उसके खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी।
बैठक के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक, उप जिलाधिकारी चकिया, मुगलसराय, तहसीलदार सकलडीहा, जिला विद्यालय निरीक्षक, प्राचार्य महेंद्र टेक्निकल इंटर कॉलेज सहित स्टैटिक मजिस्ट्रेट, सेक्टर मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट व सचल दल के अधिकारी उपस्थित थे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!