संदिग्ध परिस्थिति में मड़ई में लगी आग, बुज़ुर्ग की जलकर मौत

फ़ैयाज़ खान (संवाददाता)

गाजीपुर । शादियाबाद थाना क्षेत्र के लखमनपुर डिहवां गांव में मड़ई में सो रहे दिव्‍यांग दधिबल राजभर 75 वर्ष पुत्र सोमारु राजभर की संदिग्ध परिस्थिति में जलकर दर्दनाक मृत्यु हो गई। बताया जा रहा है कि आग इतनी भयानक थी कि उनका पूरा शरीर जलकर ख़ाक हो गया था और घर वाले या आसपास के लोगों को भनक तक नहीं लगी। परिवार वालों के अनुसार रोज की तरह दधिबल राजभर खाना खाने के बाद मड़ई में सो रहे थे। वह एक पैर से विकलांग थे और चलने फिरने के लिए बैसाखी का सहारा लेते थे। जब घर की महिलायें घर से बाहर निकलीं तो आग देखकर शोर मचाना शुरू किया।
शोर सुनकर ग्रामीणों की भारी भीड़ मौके पर इकठ्ठा हो गई। लोग आग बुझाने लगे और हर तरफ दधिबल राजभर की तलाश करने लगे पर उनका कहीं कोई पता नही चला। उजाला होने पर आग के ढेर में सर और सीने के अंश दिखाई दिए तो लोगों को उनके मौत की जानकारी हो सकी। सूचना पर पहुंची पुलिस लाश के बचे हुए अंश को पोस्‍टमार्टम के लिए थाने ले आई। आग किन कारणों से लगी इसका पता नही चल पाया है। वहीं गांव के लोगों का अनुमान है कि रात में ठंड से बचने के लिए उन्होंने अलाव जलाया होगा जिसकी चिंगारी से आग लगी होगी। मृतक के दो पुत्र हैं जो मुंबई में रहते हैं। वहीं हादसे के बाद परिवार वालों का रो रोकर बुरा हाल है। पत्नी बासमती देवी और पुत्री गिरजा देवी हादसे की विभीषिका की ओर देखकर बार-बार अचेत हो जा रही थी।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!