पीरियड्स के दौरान कभी न करें ये गलतियां,जानें

महिलाओं और लड़कियों को हर महीने पीरियड्स आना प्राकृतिक प्रक्रिया है। इस दौरान कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं, तेज दर्द सहन करना पड़ता है, खूब ब्लीडिंग, बैचेनी, चिड़चिढ़ापन का अनुभव होता है। हर महीने होने वाली इस प्रक्रिया के दौरान जाने-अनजाने में महिलाएं कुछ गलतियां कर देती हैं, जिससे समस्या और बढ़ने की आशंका रहती है। वहीं कुछ मिथक से भी वह प्रभावित रहती हैं। www.myupchar.com से जुड़े डॉ. विशाल मकवाना का कहना है कि अधिकतर महिलाओं का मानना है कि पीरियड्स का चक्र 28 दिनों का ही होता है लेकिन ऐसा नहीं है। ज्यादातर महिलाओं को यह 28 दिन के अंतराल पर होते हैं, लेकिन कभी-कभी 24 से 35 दिन के अंतराल पर भी होते हैं। इतना अंतराल होना आम बात है और यह कोई समस्या नहीं है।

पीरियड्स के दौरान ऐसी कई गलतियों से बचकर आप इन दिनों को बिना किसी परेशानी के साथ निकाल सकती हैं।

पीरियड्स के दौरान हाइजीन का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। कई बार महिलाएं सैनेटरी नैपकीन घंटों तक नहीं बदलती हैं, ऐसे में बैक्टीरियल इन्फेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। बेहतर होगा कि हर 3 से 4 घंटे में पैड बदल लें।

पीरियड्स के दौरान पेट दर्द या कमर दर्द की शिकायत रहती है। अगर इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए पेनकिलर का सहारा लेती हैं तो यह नुकसान पहुंचा सकता है। विशेषज्ञों का मानना है कि पीरियड्स के दौरान पेनकिलर्स लेने से गुड बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं। महिलाओं को किडनी, लिवर, अल्सर जैसी समस्याएं हो सकती हैं। बेहतर होगा कि दर्द को कम करने के घरेलू उपाय अपनाएं।

कई महिलाओं को पीरियड्स के दौरान खाने से अरुचि होती है। ऐसे में वह खाना ही छोड़ देती है। यह गलती नहीं करनी चाहिए, इस दौरान पर्याप्त मात्रा में भोजन करना चाहिए और ऐसा आहार जो पौष्टिक हो। इस दौरान फास्ट फूड के सेवन से बचना चाहिए।

www.myupchar.com के मुताबिक पीरियड्स के दौरान पानी कम पीना एक बड़ी गलती साबित हो सकता है। इन दिनों में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन में परिवर्तन होने लगता है और इससे पेट फूलने की दिक्कत हो सकती है। इसलिए भरपूर पानी पीना जरूरी है। ऐसा न करने पर गैस, कब्ज की समस्या हो सकती है।

पीरियड्स की तारीखें याद न रखने से उसके साइकिल को समझ नहीं पाते हैं और इसकी अनियमितता पर ध्यान नहीं रख पाते हैं। इसलिए यह सोचना ठीक नहीं कि जिन्हें कन्सीव करना है, उन्हें ही पीरियड्स की डेट्स याद होनी चाहिए। बेहतर होगा कि डेट्स को किसी डायरी में नोट करके रख लें।

पीरियड्स के दिनों में शरीर से काफी ज्यादा आयरन बाहर निकल जाता है। लेकिन महिलाओं का ध्यान नहीं रहता कि वे अपने आहार में ऐसे फूड्स शामिल करें, जिसमें भरपूर मात्रा में आयरन हो। बेहतर होगा कि बीन्स, पालक आदि खाने में शामिल करें।

पीरियड्स के दौरान बिलकुल भी शारीरिक गतिविधि या हल्की-फुल्की एक्सरसाइज न करना एक गलती है। सुस्त होने की बजाए शारीरिक रूप से सक्रिय रहे, क्योंकि इससे शरीर के पसीने के रूप में टॉक्सिन बाहर निकल जाते हैं।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!