सद्गुरु के शरण मे जाने से भक्तो के सारे दुर्गुण स्वतः समाप्त हो जाता है स्वामी चिन्मयानन्द जी

कुलदीप यादव (संवाददाता)

कमालपुर । चन्दौली धीना थाना के बभनियाव गांव स्थित सद्गुरु ब्रह्म विद्यालय एवं आश्रम के प्रागण में बुधवार को श्री श्री 108 श्री स्वामी चिन्मयानन्द जी महाराज ने उपस्थित भक्तो को अपने आशीर्वाद में वताया की सद्गुरु के शरण मे जाने से भक्त के सभी दुर्गुण अपने आप समाप्त हो जाता है।उन्होंने बन्दर ,कौआ,सहित अन्य के भाग्य को बदलने की बात को बताया। उन्होंने बन्दर के रूप में हनुमान जी व कौआ के रूप में तर गए। मनुष्य कहि भी पैदा होता है। वह दो स्थितियों में पैदा होता है।पहला आसुरी वदैविक ।आसुरी व्यक्ति भवसागर में कर्मो के आधार पर अनन्य योनियों में चला जाता है।दैविम सम्प्रदाय वाला व्यक्ति कर्मो के आधार से सद्गुरु भगवान को पाकर प्रा विद्या एवं ब्रह्म विद्या के उपदेश पाकर व भजन अपने को परम् पिता से सम्बंध हो जाता है।यह प्रा विद्या सृष्टि के प्रथम कल्प से चली आ रही है।
इस अवसर पर कमल प्रकाशनन्द, शिवज्ञान नन्द , सत्य प्रकाशनन्द, रमेश चन्द्र, गोविंद, राजनाथ, सिद्धनाथ शर्मा, उदई मौर्य ,माया राम, शंकर राम सहित अन्य भक्त उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!