आज हैं जया एकादशी,भूलकर भी न करें ये काम,जानें

हिन्‍दू धर्म में जया एकादशी व्रत को अत्‍यंत कल्‍याणकारी व्रत माना गया है। इस साल यह व्रत 05 फरवरी, बुधवार को पड़ रहा है।वैदिक पंचांग के अनुसार, जया एकादशी हर साल माघ शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को पड़ती है। हिन्‍दू मान्‍यताओं के अनुसार जो व्यक्ति इस दिन श्रद्धापूर्वक जया एकादशी का व्रत रखता है वह ब्रह्म हत्या जैसे महापाप से भी मुक्ति मिल जाती है।
जया एकादशी व्रत रखने वाले व्यक्ति को भगवान श्रीहरि विष्णु की कृपा से जीवन के समस्त सुखों की प्राप्ति सहज ही हो जाती है। लेकिन इस व्रत को लेकर हिंदू धर्म में कुछ खास नियम भी बताए गए हैं। जिनका पालन न करने पर भगवान श्रीहरि विष्णु जी आपसे नाराज भी हो सकते हैं। ऐसे में आइए जानते हैं आखिर क्या हैं ये नियम।

जया एकादशी पर भूलकर भी न करें ये काम:
-धार्मिक मान्यताओं के अनुसार एकादशी के दिन मनुष्य को चावल का सेवन नहीं करना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि चावल खाने से मनुष्य का अगला जन्म रेंगने वाले जीव की योनि में होता है।
-एकादशी के दिन खान-पान और व्यवहार में संयम बरतने के साथ सात्विकता का पालन जरूर करना चाहिए।
-एकादशी के दिन पति-पत्नी को ब्रह्राचार्य का पालन करना चाहिए।
-सभी तिथियों में एकादशी का दिन बेहद शुभ माना जाता है। इस दिन प्रभु की कृपा पाना चाहते हैं तो किसी भी व्यक्ति को इस दिन कठोर शब्द का प्रयोग, झूठ बोलना और लड़ाई-झगड़ा नहीं करना चाहिए।
-एकादशी का दिन प्रभु की आराधना का दिन माना जाता है। एकादशी के दिन सुबह जल्दी उठना चाहिए। इस दिन शाम के समय सोना नहीं चाहिए।

एकादशी के दिन करें ये काम:
-एकादशी व्रत के दिन दान अवश्य करें।
-एकादशी व्रत के दिन अगर संभव हो तो गंगा स्नान करें। ऐसा करना शुभ माना जाता है।
-जल्दी विवाह करवाना चाहते हैं तो एकादशी के दिन केसर, केला या हल्दी का दान करें।
-एकादशी का व्रत करने से व्यक्ति के मन की सभी इच्छाएं पूरी होने के साथ भगवान श्रीहरि विष्णु और माता लक्ष्मी जी प्रसन्न होते हैं।
-एकादशी का व्रत रखने से धन, मान-सम्मान, अच्छी सेहत और मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!