राष्ट्र सृजन में अपना योगदान दें शिक्षक – राकेश रौशन

अबुलकैश डब्बल (ब्यूरो)

* पांच दिवसीय अध्यापक प्रशिक्षण का हुआ शुभारम्भ।

* शिक्षकों को आधुनिक तकनीकों द्वारा बच्चों को शिक्षित करने पर दिया जोर।

* उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा रोल मॉडल अवार्ड से सम्मानित राकेश रौशन ने किया किया शुभारम्भ।

चंदौली । चहनियां एक अच्छे राष्ट्र का निर्माण अधयापकों के द्वारा होता है। आज के विद्यार्थी ही कल के भारत के सजग नागरिक बनते हैं। अतः शिक्षकगण अपनी योग्यता का सदुपयोग राष्ट्र सृजन के नेक कार्य में लगाएं। यह कहना है उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा रोल मॉडल अवार्ड से सम्मानित राकेश यादव रौशन के। वे कल बीआरसी मथेला पर विद्यालय प्रमुखों और अध्यापकों के समग्र उन्नति के लिए राष्ट्रीय पहल ( निष्ठा) कार्यक्रम का बतौर मुख्य अतिथि शुभारम्भ करते हुए बोल रहे थे।
मुख्य अतिथि ने आगे कहा कि आज विश्व के कई देशों में आधुनिक तकनीकों को शिक्षा से जोड़कर पढ़ाया जाता है। भारतीय परिदृश्य में भी देश की उन्नति के लिए इन्हें अपनाना समय की मांग है। उन्होंने आगे कहा कि शिक्षण कार्य कोई पेशा नहीं, बल्कि राष्ट्र का सृजन और समाजसेवा है। इस पुनीत कार्य में सभी शिक्षक पूरे मनोयोग से अपना सम्पूर्ण योगदान दें। डायट की मेंटर राजश्री सिंह ने कहा कि इस पांच दिवसीय प्रशिक्षण में शिक्षा के सभी पहलुओं को समाहित किया गया है, जिससे बच्चे को एक संपूर्ण शिक्षा मिल सके। खंड शिक्षा अधिकारी धर्मेंद्र कुमार मौर्य ने मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया। इससे पूर्व मुख्य अतिथि द्वारा सरस्वती प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत की गई।
इस अवसर पर शिक्षक संघ ब्लॉक चहनियां के अध्यक्ष अजय सिंह, समाजसेवी शिक्षक फ़ैयाज़ अहमद, एसएस हॉस्पिटल अलीनगर के प्रबंधक अमित यादव, समन्यवक बीआरसी मनोज गुप्ता आदि लोग मुख्य रूप से उपस्थित थे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!