बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री ने फीता काटकर किया मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला का शुभारंभ

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

फीता काटकर मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला का शुभारंभ करते प्रभारी मंत्री डॉ0 सतीश चंद्र द्विवेदी व अन्य

सोनभद्र । प्रदेश सरकार की मंशा के अनुरूप जन स्वास्थ्य सेवाएं जन-जन तक पहुँचाने तथा बेहतर जन स्वास्थ्य बनाये रखने के उद्देश्य से “मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला” का शुभारंभ आज को किया गया। इस अवसर पर जनपद सोनभद्र में प्रदेश के राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार बेसिक शिक्षा विभाग व जिले के प्रभारी मंत्री डॉ0 सतीश चन्द्र द्विवेदी ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र केकराही में आयोजित “मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला” का विधिवत उद्घाटन फीता काटकर व दीप प्रज्ज्वलित करके किया। इस अवसर पर बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री के द्वारा आयुष्मान भारत के अन्तर्गत चिन्हित परिवारों को गोल्डेन कार्ड का वितरण किया गया तथा “मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला” के अन्तर्गत लगाये गये सभी स्टालों का अवलोकन किया गया।

सभा को सम्बोधित करते बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री डॉ0 सतीश चंद्र द्विवेदी

“मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला” के शुभारंभ के अवसर पर बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री व जिले के प्रभारी मंत्री डॉ0 सतीश चन्द्र द्विवेदी ने कहा कि “मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला” आयोजित करने के पीछे मुख्यमंत्री की एक सुनिश्चित सोच व उद्देश्य है। आज से डेढ़ वर्ष पहले सितम्बर, 2018 में मोदी सरकार द्वारा एक योजना की शुरूआत की गयी है, जिसे आयुष्मान भारत का नाम दिया गया। इस योजना के अन्तर्गत सेक डाटा के अनुसार देश के 10 करोड़ गरीब परिवारों को 5 लाख रूपये तक मुफ्त ईलाज की व्यवस्था दी गयी है। प्रायः बड़ी बीमारी हो जाने पर गरीब परिवार के व्यक्ति पत्नी का धरोहर, जमीन व मकान बेचकर अपने परिवार का ईलाज कराते हैं। देश की गरीब जनता की इस पीड़ा को दूर करने के लिए एक गरीब परिवार का लड़का जब भारत का प्रधानमंत्री बना, तो उसके द्वारा इस दर्द को बड़ी सिद्दत से महसूस किया गया। प्रधानमंत्री का सर्वप्रथम ध्यान स्वच्छता व स्वास्थ्य तथा सभी गरीबों को सर ढकने के लिए पक्का आवास उपलब्ध कराने की तरफ गया। इसी का परिणाम है कि गरीब महिलाएं जो धुंएँ का सामना करके खाना बनाती थी, जिससे उनकी ऑख खराब होने के साथ-साथ उनके स्वास्थ्य पर भी दुष्प्रभाव पड़ता था, उन्हें निःशुल्क गैस का चूल्हा उपलब्ध कराया। पहले बड़ी संख्या में लोगों को सर ढकने के लिए पक्की छत नहीं थी, अतः इस बुनियादी जरूरत को भी प्रधानमंत्री ने गहराई से समझा और सभी गरीब परिवारों को पक्का घर देने का संकल्प लिया तथा आज ढाई वर्षों में लगभग 12 लाख गरीब परिवारों को सर ढकने के लिए प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत पक्का घर दिया। पहले दिन डूबने के बाद गांव में घुसने पर सड़क के किनारे शौच के लिए बैठी माताओं व बहनों को उठकर खड़े होने पर जो दंश व पीड़ा झेलनी पड़ती थी, उस पीड़ा की गइराई को भी सर्वप्रथम प्रधानमंत्री ने समझा और 02 अक्टूबर 2014 को महात्मा गॉधी जी की जयन्ती के अवसर पर सबको शौचालय देने का बीड़ा उठाया। प्रधानमंत्री की इस भावना को प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने सर्वोच्च प्राथमिकता से लिया और आज उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक प्रधानमंत्री आवास व शौचालय बनाये गये हैं तथा सेक डाटा से छुटे हुए परिवारों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत पक्का मकान दिया गया।
राज्यमंत्री ने अपने उद्बोधन में यह भी कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा जन आरोग्य मेला के तर्ज पर पूर्व में गोवंश संरक्षण के दृष्टिगत पशुओं के समुचित जॉच व ईलाज के लिए न्याय पंचायत स्तर पर पं0 दीन दयाल उपाध्याय पशु आरोग्य मेले का भी आयोजन किया गया है, जिसमें पशुओं के ईलाज की भी व्यवस्था की गयी। इससे साबित है कि मानव के साथ-साथ गोवंशों के प्रति भी मुख्यमंत्री की गहरी संवेदना है। आज उत्तर प्रदेश के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला लगा है, जिसके माध्यम से जनपद के समस्त नागरिकों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने के लिए, रोगों के रोक-थाम एवं नियंत्रण तथा असाध्य रोगों को उनके प्रारंभिक अवस्था में ही चिन्हित किये जाने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। इन मेलों में एलोपैथ, होम्योपैथ व आयुर्वेद विधाओं की आवष्यक औषधियॉ आवश्यक मात्रा में उपलब्ध करा दी गयी है तथा मेले के पर्यवेक्षण हेतु विभिन्न स्तर के अधिकारियों व डॉक्टरों की टीम भी लगायी गयी है। राज्यमंत्री ने अपने उद्बोधन में माताओं के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि माताएं प्रायः छोटी-छोटी बीमारियों को छुपाती हैं तथा यहीं बीमारी जब बड़ी हो जाती है और गंभीर रूप ले लेती है तब उनका ईलाज किया जाना बहुत कठिन हो जाता है। इन स्थितियों से बचने के लिए भी मेले का आयोजन किया गया है, ताकि बड़ी बीमारी को प्रारंभिक अवस्था में ही चिन्हित कर उनका समुचित ईलाज किया जा सके। प्रभारी मंत्री द्वारा मुख्यमंत्री के इस विचार की सराहना करते हुए कहा गया कि समाज के सबसे कमजोर वर्गों के परिवारों के प्रति अपनी इसी सोच व संवेदना के कारण आज प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री गरीब जनता के बेटा बन गये हैं। जब प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आपके बेटा बन गये हैं, तो आपका फर्ज है कि आप बेटा व बेटी में फर्क न समझें। माताओं व बेटियों का स्वास्थ्य परीक्षण जरूर करायें। जो स्वस्थ्य है वह भी जन आरोग्य मेला में जरूर आयें और अपने बेहतर स्वास्थ्य के बारे में जानें। उन्होंने कहा कि परिषदीय स्कूलों में पढ़ने वाले बेटियों का अभियान चलाकर स्वास्थ्य परीक्षण कराते हुए एनिमिया से बचाना है, ताकि बेटियां आगे चलकर एक स्वस्थ महिला के रूप में समाज को आगे बढ़ाएँ।

मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला के शुभारंभ के मौके पर सभा को संबोधित करते डीएम एस0 राजलिंगम

आरोग्य मेला शुभारंभ समारोह को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने बताया कि “जिले के 30 स्वास्थ्य केन्द्रों पर एक साथ मेले का आयोजन किया गया है, जो फरवरी व मार्च महीने के सभी रविवार को प्रातः 10.00 बजे से अपरान्ह 02.00 बजे तक क्रियाशील रहेगा। मेले में एलोपैथ व डेन्टल के 33, आयुष चिकित्सक/होम्योपैथ के 68 व पैरामेडिकल व अन्य स्टाफ 174 की संख्या में तैनात किये गये हैं। मेले में ओपीडी सेवाएं, टीबी, मलेरिया, डेंगू, दिमागी बुखार, कालाजार, फाईलेरिया, कुष्ठ रोगों सम्बन्धी जानकारी और आवश्यक जॉच एवं उपचार की सुविधाएं दी जा रही है। इसी प्रकार से उक्त रक्तचाप, मधुमेह, मुख, स्तन एवं सर्वाइकल कैंसर की स्क्रीनिंग तथा फालोअप भी किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य की जानकारी तथा पात्र लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड वितरण, गर्भावस्था व प्रसव कालीन परामर्श सेवाएं, संस्थागत प्रसव सम्बन्धी जन जागरूकता, जन्म पंजीकरण, नव जाति एवं शिशु स्वास्थ्य सुरक्षा परामर्श सेवाएं, टीकाकरण, परिवार नियोजन सम्बन्धी परामर्श सेवाएं, बच्चों में डायरिया व निमोनिया के रोक-थाम एवं बचाव की जानकारी देने के साथ ही तम्बाकू सेवन को रोकने के लिए जन जागरूकता का भी कार्य किया जा रहा है।”

जनपद सोनभद्र में आज आयोजित मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला का शुभारंभ जहां केकराही में जिले के प्रभारी मंत्री ने किया, वहीं सासद राज्यसभा रामशकल ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चतरा, अध्यक्ष जिला पंचायत अमरेश सिंह पटेल ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खलियारी, सदर विधायक भूपेश चौबे ने नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र राबर्ट्सगंजं, विधायक घोरावल डॉ0 अनिल कुमार मौर्य ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र करमा व मधुपुर, विधायक ओबरा संजीव कुमार गौंड़ ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बड़गवां, विधायक दुद्धी हरिराम चेरो ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कटौली व अन्य प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर आयोजित मुख्य मंत्री जन आरोग्य मेला का शुभारंभ स्थानीय जनप्रतिनिधिगणों द्वारा किया गया।

इस मौके पर बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री के साथ जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम, पुलिस अधीक्षक आशिष श्रीवास्तव, मुख्य विकास अधिकारी अजय कुमार द्विवेदी, उपाध्यक्ष भाजपा काशीप्रान्त रमेश मिश्रा, प्रदेश महामंत्री युवा मोर्चा भाजपा देवेन्द्र पटेल, धर्मवीर तिवारी, श्रवण, कमलेश चौबे, संतोष शुक्ला, उदयनाथ सिंह, कृष्ण मुरारी गुप्ता, विनोद श्रीवास्तव, अशोक मौर्या, अजीत रावत सहित अन्य गणमान्यजन एवं इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन के पदाधिकारीगण व जनपद स्तरीय अधिकारीगण व स्वास्थ्य विभाग के कार्मिकगण, भारी संख्या में क्षेत्रीय नागरिकगण मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!