हड़ताल से बैंकिंग सेवाओं पर पड़ा असर, एटीएम भी रहे बंद

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

प्रदर्शन करते बैंककर्मी

सोनभद्र । केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ निजीकरण और संबद्धीकरण के विरोध और आठवां वेतन आयोग लागू करने आदि मांगों को लेकर बैंक कर्मचारी दूसरे दिन भी हड़ताल पर रहे। दो दिवसीय हड़ताल के दूसरे दिन जनपद के सभी बैंक बंद रहे। इससे ग्राहकों को परेशानी हुई।

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के राष्ट्रव्यापी हड़ताल से जिले में लगभग 20 करोड़ का कारोबार प्रभावित हुआ। बैंकों से जुड़े सारे काम बंद रहे। संघ की ओर से 2 दिन के हड़ताल का आह्वान किया गया था लेकिन तीसरे दिन रविवार होने के कारण बैंक बंद रहेंगे।

वहीं हड़ताली बैंक अधिकारियों ने कहा कि यदि अब भी मांग पूरी नहीं हुई तो मार्च महीने में 11, 12 एवं 13 तारीख को तीन दिवसीय तथा 1 अप्रैल 2020 से अनिश्चितकालीन हड़ताल किया जाएगा। बैंकों की हड़ताल से ग्राहकों को हो रही परेशानी के लिए अधिकारियों कर्मचारियों ने खेद जताते हुए कहा कि मांगों के समाधान के लिए हड़ताल के सिवाय अब उनके पास कोई दूसरा चारा नहीं रह गया है।

यह हैं मांगें –

– 20 फीसद वृद्धि पर हो वेतन समझौता

– पांच दिवसीय हो बैंकिंग

– मूल वेतन के साथ विशेष भत्ते का हो विलय

– नई पेंशन योजना हो समाप्त

– पेंशन का अद्यतनीकरण और पारिवारिक पेंशन में हो सुधार

– अवकाश बैंक की हो शुरुआत

– अधिकारियों के लिए काम के घंटे हो निर्धारित

– बिना सीमा के सेवानिवृत्त लाभों पर आयकर से हो छूट

– परिचालन लाभ के आधार पर कर्मचारी कल्याण कोष का हो आवंटन

– ठेका कर्मचारियों और बिजनेस करेस्पोंडेंट्स को समान काम का मिले समान वेतन

– शाखाओं में कारोबार का समय और भोजनावकाश आदि का एक समान हो निर्धारित

एटीएम भी रहे बंद –

दो दिन की हड़ताल और कल रविवार होने के कारण बैंक बंद रहेंगे। इस प्रकार लगातार तीन दिनों तक बैंक व एटीएम बंद रहने से लोगों को परेशानियां और भी बढ़ने की संभावना है। आए दिन हो रहे बैंक हड़ताल को लेकर आम नागरिकों में काफी नाराजगी भी व्याप्त है। इसके लिए कई लोग सरकार के साथ ही कर्मचारी संगठनों को भी जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!