उरमौरा में सप्त दिवसीय शतचंडी यज्ञ का हुआ शुभ्भारम्भ

विनोद धर (संवाददाता)

सोनभद्र | सप्त दिवसीय शतचंडी यज्ञ रावर्टसगंज (उरमौरा ) भगवती के साधना पर्व माघ महीने ( गुप्त नवरात्र ) में बाबू कृष्ण कुमार सिंह के नवनिर्मित गृह में सप्त दिवसीय शतचंडी यज्ञ चल रहा है। प्रातः कालीन समय में वैदिक विधान से पूजन होता है। भू देवो द्वारा सस्वर दुर्गा सप्तशती का पाठ हो रहा है। सायं कालीन समय में प्रवचन का कार्य भी चल रहा है। आचार्य डॉ शशि कुमार पाठक ने यज्ञ की व्याख्या करते श्रीमद्भागवत गीता का उदाहरण देते हुए हुए कहा कि यज्ञ से अन्न, अन्न से जल, जल से प्राणियों की उत्पत्ति हुई है, इसलिए मनुष्य को का जन्म ही यज्ञ के उद्देश्य को लेकर हुआ है। उन्होंने कहा कि गृहस्थ आश्रम में प्रतिदिन पांच यज्ञ करने का विधान है, परंतु ऐसा संभव न होने के कारण किसी महायज्ञ में भाग लेकर, उसमें सहयोग देकर उसकी पूर्ति की जाती है। इस अवसर पर सायं कालीन बेला में मानस हंस श्याम बली पाठक ने अपने सारगर्भित प्रवचन में पंचतत्व की विस्तार से वर्णन करते हुए मानस की चौपाइयों द्वारा उपस्थित श्रोताओं को मंत्र मुग्द कर दिया। इस अवसर पर कुंवर हर्षदेव ब्रह्मा, शीतला सिंह, अर्जुन सिंह, नरेंद्र कुमार पाठक, शुभम सिंह, राहुल सिंह, दिनेश पाठक ,देवेंद्र, यज्ञ नारायण, दूध धर द्विवेदी, विवेक पाठक, अनुज द्विवेदी, भोला, राजन आदि लोग उपस्थित रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!